सचिन पायलट बोले- सौ बार कह चुका हूं मैं अब भी कांग्रेसी हूं, बीजेपी में नहीं जाऊंगा

चैतन्य भारत न्यूज 

राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद से बर्खास्त किए जाने के बाद सचिन पायलट ने आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ दी है। सचिन पायलट को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोलना भारी पड़ गया। कांग्रेस ने सचिन पर आरोप लगाया है कि पायलट ने भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार को गिराने का षड्यंत्र रचा है। खुद पर आरोप लगने के बाद पायलट ने कहा कि, ‘मैं सौ बार कह चुका हूं कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ज्वॉइन नहीं कर रहा हूं। पिछले पांच साल के दौरान मैंने बीजेपी के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी है।’

सचिन ने इंडिया टुडे मैग्जीन से खुलकर बातचीत की। जब उनसे यह पूछा गया कि आप मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से खफा क्यों हैं? तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि, ‘मैं उनसे नाराज नहीं हूं और ना ही किसी तरह की कोई स्पेशल शक्ति मांग रहा हूं। मैं बस इतना चाहता हूं कि कांग्रेस की सरकार राजस्थान में लोगों को किए हुए वादे को पूरा करे जो चुनाव के दौरान किए गए थे। हमने चुनाव में वसुंधरा राजे की सरकार के खिलाफ प्रचार किया, जिसमें अवैध माइनिंग का मसला था लेकिन सत्ता में आने के बाद अशोक गहलोत जी ने कुछ नहीं किया और उसी रास्ते पर चल पड़े। पिछले साल राजस्थान हाई कोर्ट ने एक पुराने फैसले को पलटते हुए वसुंधरा राजे को बंगला खाली करने को कहा, लेकिन अशोक गहलोत सरकार ने फैसले पर अमल करने की बजाय इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे दी।’

सचिन ने कहा कि, ‘मैं राजस्थान कांग्रेस का हिस्सा रहते हुए बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और राजस्थान में कांग्रेस बनवाई है। अगर कोई व्यक्ति या पार्टी राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश कर रही है तो यह नहीं माना जा सकता है कि मैं उनसे जुड़ जाऊंगा।’

सचिन पायलट ने कहा कि, ‘जो लोग कह रहे हैं कि मैं बीजेपी में शामिल होने वाला हूं, वो मेरी छवि को धूमिल करने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने उकसावे और पद छीनने के बावजूद पार्टी के खिलाफ एक भी शब्द नहीं कहा है। हम भविष्य के लिए अपनी रणनीति तय करने जा रहे हैं। मैंने 100 बार कहा कि मैं बीजेपी में शामिल नहीं हो रहा हूं। दिल्ली में बैठे लोगों के दिमाग में डालने के लिए विरोध कैंप के लोगों की ओर से अफवाह फैलाई जा रही है। मैं जल्दबाजी और चालबाजी नहीं करना चाहता हूं।’

जब सचिन पायलट से उनके भविष्य को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, ‘जरा माहौल को शांत होने दीजिए, अभी 24 घंटे भी नहीं हुए हैं। मैं अभी भी कांग्रेस कार्यकर्ता हूं। मुझे अपने समर्थकों के साथ अपने कदम पर चर्चा करनी है। मैं पहले ही साफ कर देना चाहता हूं कि भाजपा ज्वॉइन नहीं कर रहा हूं।’

 

 

 

Related posts