जयंती विशेष: भारत के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री थे राजीव गांधी, एक धमाके के साथ खत्‍म हो गया था जीवन

चैतन्य भारत न्यूज

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न राजीव गांधी की आज जयंती है। राजीव का जन्म 20 अगस्त 1944 को हुआ था। राजीव गांधी भारत के सबसे कम उम्र के पीएम थे। जन्मदिन के इस खास मौके पर जानते हैं राजीव गांधी से जुड़ी खास बातें-

जब भारत अंग्रेजों की हुकूमत से मुक्त हुआ था उस समय राजीव की आयु महज 3 साल थी। राजीव गांधी और उनके छोटे भाई संजय गांधी की शिक्षा-दीक्षा देहरादून के प्रतिष्ठित दून स्कूल में हुई थी। इसके बाद राजीव गांधी ने लंदन के इंपीरियल कॉलेज में दाखिला लिया तथा केंब्रिज विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। इसके अलावा राजीव कमर्शियल पायलट लाइसेंस होल्‍डर थे। भारत वापस आने के बाद उन्‍होंने काफी समय तक इंडियन एयरलाइंस को बतौर पायलट अपनी सेवाएं दी।

31 अक्टूबर 1984 को उनकी मां और देश की तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्‍या के बाद राजीव को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई गई थी। राजीव ने अपने कार्यकाल में नौकरशाही में सुधार लाने और देश की अर्थव्यवस्था के उदारीकरण के लिए जोरदार कदम उठाए। राजीव गांधी को देश में सूचना प्रौद्योगिकी और संचार क्रांति का जनक भी कहा जाता है। राजीव गांधी कभी कोई निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेते थे।

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न राजीव गांधी की आज पुण्यतिथि है। आज ही के दिन साल 1991 में श्रीलंका में शांति सेना भेजने से नाराज तमिल विद्रोहियों ने तमिलनाडु के श्रीपेरम्बदूर में राजीव पर आत्मघाती हमला किया। लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार कर रहे राजीव गांधी के पास एक महिला फूलों का हार लेकर पहुंची और उनके बहुत करीब जाकर अपने शरीर को बम से उड़ा दिया। धमाका इतना जबरदस्त था कि उसकी चपेट में आने वाले ज्यादातर लोगों के मौके पर ही परखच्चे उड़ गए। उनके निधन ने देश ही नहीं पूरी दुनिया को झकझोर कर रख दिया था।

ये भी पढ़े…

पहली नजर में सोनिया को दिल दे बैठे थे राजीव गांधी, करीब आने के लिए दी थी रिश्वत

राजीव गांधी के बेहद करीबी थे डीपी त्रिपाठी, शरद पवार संग सोनिया के विरोध में छोड़ दी थी कांग्रेस

किस्सा कुछ यूं हैः समर्थन और बहुमत होने पर भी सोनिया गांधी ने ठुकरा दिया था पीएम बनने का प्रस्ताव, मनमोहन सिंह का नाम किया आगे

Related posts