चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव को मिली जमानत, लेकिन अभी भी जेल में ही रहेंगे!

lalu prasad yadav,chara ghotala

चैतन्य भारत न्यूज

रांची. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को रांची हाई कोर्ट से जमानत मिल गई है। बता दें लालू चारा घोटाला के देवघर कोषागार मामले में जेल की सजा काट रहे थे। सजा की आधी अवधि गुजर जाने के बाद लालू की ओर से जमानत याचिका दायर की गई थी। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए रांची हाई कोर्ट ने लालू को 50-50 हजार के मुचलके पर जमानत दे दी।

जानकारी के मुताबिक, कोर्ट ने लालू को पासपोर्ट जमा कराने का आदेश दिया है। बता दें इस मामले में पिछले दिनों 5 जुलाई को भी सुनवाई हुई थी, लेकिन उस समय लालू को रांची हाईकोर्ट से राहत नहीं दी थी। लालू ने जमानत के लिए याचिका दायर की थी, जिस पर हाई कोर्ट ने सुनवाई के लिए अगली तारीख 12 जुलाई निर्धारित की थी। हालांकि, जमानत मिलने के बावजूद लालू जेल से बाहर नहीं निकल पाएंगे। दरअसल, चारा घोटाले के अलावा लालू पर और भी दो मामले चाईबासा और दुमका चल रहे हैं। जेल से निकलने के लिए लालू को इन दोनों मामलों में भी जमानत मिलनी चाहिए। इसलिए फिलहाल लालू को जेल में ही रहना पड़ेगा।

रिपोर्ट्स के अनुसार, देवघर मामले में लालू यादव को 3.5 साल की सजा हुई थी। वहीं, दुमका मामले में 5 साल की सजा और चाईबासा में दो मामले थे, जिसमें 7-7 साल की सजा हुई थी। बता दें लालू पिछले काफी समय से जेल में ही हैं। बीच में तबियत बिगड़ने के कारण उनका इलाज रिम्स अस्पताल में चल रहा था। स्वास्थ्य खराब होने की वजह से ही लालू के द्वारा जमानत के लिए कोर्ट में याचिका दायर की जा रही थी। लेकिन कोर्ट ने हर बार उसे खारिज कर दिया था।

क्या है मामला

चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से लगभग 89.27 लाख रुपए की अवैध निकासी के मामले में लालू को अदालत ने 23 दिसंबर 2017 को दोषी ठहराया था। लालू को इस मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने 3.5 साल जेल की सजा सुनाई थी। सुप्रीम कोर्ट के नियमों के मुताबिक, अपराधी द्वारा सजा की आधी अवधि हो जाने के बाद उसे जमानत दी जा सकती है। लालू ने भी इसी आधार पर जमानत याचिका दाखिल की थी।

ये भी पढ़े… 

अस्पताल में लालू यादव ने जताई आम खाने की इच्छा, डॉक्टर ने दी यह खाने की सलाह

बिजली कटने से लालू को हुई सांस लेने में तकलीफ, बिगड़ी तबियत

सुप्रीम कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव को दिया एक और बड़ा झटका

Related posts