अयोध्या के अलावा रिटायर होने से पहले इन 4 अहम मुद्दों पर भी फैसला सुनाएंगे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई

ranjan gogoi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 दिसंबर को रिटायर होने वाले हैं। रिटायर होने से पहले चीफ जस्टिस ने भारत के सबसे बड़े मामलों में से एक अयोध्या भूमि विवाद पर तो फैसला सुना दिया। लेकिन रंजन गोगोई अगले तीन दिनों में चार और अहम मामलों पर फैसला सुनाने वाले हैं। बता दें चीफ जस्टिस के रिटायर होने से पहले 16 और 17 नवंबर को शनिवार व रविवार का अवकाश है। ऐसे में उनके पास  चार फैसलों पर सुनवाई के लिए सिर्फ तीन दिन 13, 14, 15 नवंबर ही हैं। आइए जानते हैं रंजन गोगोई को किन चार मामलों पर फैसला देना है…


  • जानकारी के मुताबिक, राफेल मामले में पिछले साल 14 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले पर पुनर्विचार की मांग के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा व अरुण शौरी समेत कई अन्य लोगों की तरफ से दाखिल याचिका पर निर्णय देना है।
  • राफेल मामले में लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए ‘चौकीदार चोर है’ के नारे का इस्तेमाल करने को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ दाखिल सुप्रीम कोर्ट की अवमानना याचिका पर निर्णय देना है।
  • केरल के सबरीमाला मंदिर में हर उम्र की लड़कियों और महिलाओं को प्रवेश देने के सुप्रीम कोर्ट के 29 सितंबर 2018 के फैसले की फिर से समीक्षा के लिए दाखिल याचिकाओं पर निर्णय देना है।
  • दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ऑफिस को सूचना अधिकार कानून के दायरे में लाने के आदेश के खिलाफ साल 2010 में सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल व सेंट्रल पब्लिक इंफार्मेशन ऑफिसर द्वारा दाखिल तीन याचिकाओं पर चार अप्रैल को सुरक्षित रखे गए निर्णय को सुनाना है।

ये भी पढ़े…

रंजन गोगोई के खिलाफ साजिश के दावे की होगी जांच, कोर्ट ने पूर्व जस्टिस को सौंपी कमान

यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे जस्टिस गोगोई को सुप्रीम कोर्ट ने दी क्लीन चिट

सुप्रीम कोर्ट के 47वें मुख्य न्यायाधीश होंगे जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

Related posts