अनोखी होली : यहां होली पर एक साथ निकलती है बारात और शवयात्रा, शामिल होते हैं सैंकड़ों लोग

anokhi holi, holi 2020

चैतन्य भारत न्यूज

भारत की अलग-अलग जगहों पर होली खेलने के अलग-अलग अंदाज होते हैं। कई जगहों की होली बड़ी ही अनोखी होती है, जिसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं राजस्थान के रींगस कस्बे में मनाई जाने वाली होली के बारे में जो बेहद ही अनूठी है।



anokhi holi, holi 2020

एक साथ निकाली जाती है बारात और शवयात्रा

रींगस कस्बे में धुलेंडी के दिन बरात व शवयात्रा एक साथ निकालने की परंपरा है। यहां आगे आगे बैण्ड बाजों के साथ दूल्हे की बारात चलती है और उसके पीछे मुर्दे की शव यात्रा। इस दौरान लोग नाचते-गाते अबीर गुलाल लगाते हुऐ शवयात्रा व बारात में शामिल होते हैं। ये परंपरा इस कस्बे की बहुत ही पुरानी परंपरा है।

anokhi holi, holi 2020

लोग यहां के गोपीनाथ नाम के मंदिर पर इक्कट्ठा होते हैं। इसके बाद घास-फुस का मुर्दा बनाते हैं जिसकी शवयात्रा निकलती है और भीड़ में से ही किसी एक इंसान को दूल्हा बनाते हैं। सैकड़ों लोग बैण्ड बाजे के साथ दूल्हे का श्रंगार कर उसे घोड़े या फिर उंट पर बैठाकर बारात निकालते हैं। पूरे देशभर में इस होली की चर्चा होती है। यहां की होली देखने के लिए खासतौर से लोग आते हैं और इस अनोखी होली का मजा लेते हैं।

anokhi holi, holi 2020

इसलिए निकालते हैं शव यात्रा

स्थानीय लोगों का कहना है कि, सैकड़ों वर्षों से यह परंपरा चली आ रही है। उन्होंने बताया कि कस्बे पर आने वाली तमाम बाधाओं, लोगों की मुश्किलों और गंदी आदतों को मुर्दे के साथ श्मशान में नष्ट कर दिया जाता है। साथ ही कस्बे में सुख-समृद्धि बने रहे, इसलिए यह शवयात्रा निकाली जाती है।

ये भी पढ़े…

होली-चैत्र नवरात्रि समेत मार्च में मनाएंगे जाएंगे ये बड़े तीज- त्योहार, यहां देखें पूरी लिस्ट

भीष्म द्वादशी व्रत से मिलता है सौभाग्य, इस विधि से करें भगवान विष्णु की पूजा

गुरुवार को इस विधि से करें भगवान विष्णु की पूजा, घर में आएगी सुख-समृद्धि

Related posts