7 महीने में आरबीआई को लगा दूसरा बड़ा झटका, डिप्‍टी गवर्नर विरल आचार्य ने दिया इस्‍तीफा

viral acharya,rbi,rbi deputy governor

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) को सात महीने में दूसरा बड़ा झटका लगा है। बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बता दें सात महीने के भीतर यह दूसरी बार है जब बैंक के किसी उच्च अधिकारी ने अपना कार्यकाल पूरा होने से पहले ही पद छोड़ा है। आचार्य से पहले आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने दिसंबर में निजी कारण बताते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

आचार्य ने अपना कार्यकाल पूरा होने के करीब छह महीने पहले ही पद छोड़ दिया है। हालांकि, आरबीआई के सूत्रों ने अभी तक उनके इस्तीफे की खबर की पुष्टि नहीं की है। लेकिन यह कहा जा रहा है कि सोमवार दोपहर तक आरबीआई इस संबंध में आधिकारिक बयान जारी कर सकता है। बता दें आचार्य आरबीआई के उन बड़े अधिकारियों में शामिल थे जिन्हे उर्जित पटेल की टीम का हिस्सा माना जाता था। जानकारी के मुताबिक, आचार्य अब न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के सेटर्न स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर पद पर काम करेंगे। 23 जनवरी 2017 को आचार्य ने तीन साल के लिए आरबीआई के बतौर डिप्टी गवर्नर पद पर ज्वाइन किया था। इस हिसाब से वह करीब 30 महीने केंद्रीय बैंक के लिए अपने पद पर कार्यरत रहे। उनका तीन साल का कार्यकाल जनवरी, 2020 में पूरा होना था।

अब आरबीआई में शीर्ष स्तर पर दो पद खाली होने वाले हैं। दरअसल, 3 जुलाई को एनएस विश्वनाथन भी रिटायर हो रहे हैं। बता दें आचार्य मौद्रिक नीति, रिसर्च और वित्तीय स्थिरता से जुड़े मामले देखते थे, जबकि विश्वनाथन बैंकिंग रेलुगेशन और रिस्क मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के इंचार्ज हैं।

ये भी पढ़े…

बाजार में 25 हजार करोड़ की नकदी बढ़ाएगा रिजर्व बैंक

ट्रेड क्रेडिट पॉलिसी में संशोधन, आयात के लिए पूंजी जुटाना आसान  

भारतीय रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसीः रेपो रेट में हो सकती है कटौती, किसानों के लोन की लिमिट बढ़ाई

Related posts