बाजार में 25 हजार करोड़ की नकदी बढ़ाएगा रिजर्व बैंक

टीम चैतन्य भारत।

आरबीआई घरेलू बाजार में नकदी की किल्लत दूर करने के लिए एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है, जिसकी शुरुआत दो मई से होगी।

भारतीय रिजर्व बैंक ने मई में सरकारी प्रतिभूतियां (बॉन्ड्स) खरीदकर बाजार में 25,000 करोड़ रुपए तक की नकदी बढ़ाने की घोषणा की है। रिजर्व बैंक के इस कदम से बाजार को रफ्तार मिलेगी।

सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद को तकनीकी भाषा में ‘ओपन मार्केट ऑपरेशंस (ओएमओ) कहा जाता है। आरबीआई के मुताबिक यह काम दो समान किस्तों में किया जाएगा और पहली खरीद 2 मई, 2019 को की जाएगी। यह वित्त वर्ष 2019-20 का पहला ओएमओ होगा, जिसके जरिए बाजार में 12,500 करोड़ रुपए की नकदी डाली जाएगी। ओएमओ की दूसरी किस्त की तारीख की घोषणा अब तक नहीं की गई है।

रिजर्व बैंक ने ओएमओ की वजह भी बताई है। केंद्रीय बैंक का कहना है कि बाजार लंबे समय तक टिकने वाली नकदी की मजबूत स्थिति की जरूरतों और मूल्यांकन की समीक्षा के आधार पर यह फैसला किया गया है। बहरहाल, रिजर्व बैंक ने लंबे समय बाद ओपन मार्केट ऑपरेशन की घोषणा की है। कारण यह है कि घरेलू बाजार इन दिनों नकदी की कमी से जूझ रहा है। यही वजह है कि वित्त वर्ष 2018-19 में अब तक रिजर्व बैंक ने करीब 2.8 लाख करोड़ रुपए के बॉन्ड की पुनर्खरीद की है।

आरबीआई ने कहा है कि वह दो मई को पांच तरह के सरकारी बॉन्ड खरीदेगा, जिनकी परिपक्वता अवधि अगले साल से लेकर 2032 तक होगी।

Related posts