रिपोर्ट: दुनियाभर के प्रदूषित शहरों की लिस्ट में भारत के 21 शहर शामिल, दिल्‍ली सबसे प्रदूषित राजधानी

polluted report,

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत के लिए वायु प्रदूषण आज भी बड़ा खतरा बना हुआ है। कुछ महीनों पहले तो राजधानी दिल्ली में सांस लेना तक मुश्किल हो गया था। वहीं वायु प्रदूषण को लेकर अब एक रिपोर्ट आई है, जिसमें भारत के लिए चिंता की बात है। रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्‍ली दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानियों में सबसे ऊपर है। आईक्‍यू एयर विजुअल की वर्ल्‍ड एयर क्‍वालिटी रिपोर्ट 2019 (World Air Quality Report, 2019) के मुताबिक, दुनिया के 30 सबसे प्रदूषित शहरों में 21 भारत के हैं।



दिल्‍ली से सटा गाजियाबाद शहर दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में शीर्ष पर है। इसके अलावा ग्रेटर नोएडा नौवें, बंधवारी दसवें, लखनऊ ग्यारहवें, बुलंदशहर तेरहवें, मुजफ्फरनगर चौदहवें, बागपत पंद्रहवें, जींद सत्रहवें, फरीदाबाद अठारहवें, चोरौट उन्नीसवें और भिवाड़ी बीसवें नंबर पर है। खास बात यह है कि मोदी सरकार के द्वारा पर्यावरण को लेकर तमाम प्रयासों को अंजाम दिया गया है। लेकिन कुछ परिवर्तन देखने को नहीं मिल रहा है और भारत के प्रमुख शहर प्रदुषित शहर में अभी भी शामिल है।

प्रदूषण बढ़ने के ये हैं कारण 

पड़ोसी देश चीन की राजधानी बीजिंग ने साल 2019 में वायु गुणवत्‍ता में सुधार किया है। बीजिंग दुनिया के 200 सबसे प्रदूषित शहरों की सूची से बाहर हो गया है।भारत, चीन और अन्य एशियाई देशों में वाहनों से निकलने वाला धुआं, कोयले से चलने वाले संयंत्र, कृषि के जलने और औद्योगिक उत्सर्जन इसके लिए जिम्मेदार हैं।

वायु प्रदूषण से हर साल 12 लाख मौते 

रिपोर्ट के मुताबिक, गाजियाबाद में सालाना औसत पीएम 2.5 घनत्‍व 110.2 रहा है। WHO के मुताबिक, वायु प्रदूषण से दुनिया में हर साल 70 लाख लोगों की मौत होती है, जबकि वैश्विक अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होता है। वहीं भारत में वायु प्रदूषण से सालाना 12 लाख लोगों की मौत होती है।

ये भी पढ़े…

प्रदूषित हवा भ्रूण में ही कम कर रही बच्चे का वजन और लंबाई : अध्ययन

शोध का खुलासा- वाहनों से निकलने वाले धुएं से बढ़ रहें हैं गर्भपात के मामले

वाराणसी में लोगों के साथ भगवान भी प्रदूषण की चपेट में, मूर्तियों को पहना दिए मास्क

Related posts