रिपब्लिक टीवी के एडिटर ऐंड चीफ अर्नब गोस्वामी गिरफ्तार, कंगना ने गुस्से में पूछा- कितनी आवाजें बंद करोगे ?

चैतन्य भारत न्यूज

रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने आत्महत्या के एक पुराने मामले में बुधवार को गिरफ्तार किया है। अर्नब के साथ अलावा पुलिस ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है जिनके नाम फिरोज शेख और नितेश सारदा हैं। गोस्वामी को वर्ली जबकि फिरोज को कांदिवली और नितेश को जोगेश्वरी से गिरफ्तार किया गया है।

अर्नब को 53 साल के एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां की आत्महत्या के मामले में मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया। रिपब्लिक न्यूज चैनल का दावा है कि, अर्नब को उस मामले में गिरफ्तार किया गया है, जो पहले ही बंद किया जा चुका है। वहीं, अर्नब के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई पर शिवसेना और कांग्रेस का भी बयान आया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने अर्नब गोस्वामी को बदले की भावना के तहत गिरफ्तार नहीं किया गया है। वहीं, कांग्रेस ने अर्नब की गिरफ्तारी को दिवंगत अन्वय नायक के लिए श्रद्धांजलि करार दिया है।

अर्नब की गिरफ्तारी रायगढ़ पुलिस और मुंबई पुलिस के संयुक्त अभियान में हुई है। एपीआई सचिन वाजे की टीम ने अर्नब को उनके घर से गिरफ्तार किया। आरोप के मुताबिक, रिपबल्क टीवी पर आर्टिकेक्ट फर्म कॉन्कॉर्ड डिजाइन प्राइवेट लिमिटेड के एमडी अन्वय नाइक का 83 लाख रुपया बकाया था। नाइक ने रिपब्लिक टीवी का स्टूडियो तैयार किया था। दो अन्य कंपनियां- आईकास्टएक्स/स्काइमीडिया और स्मार्टवर्क्स भी अपना-अपना बकाया चुकाने में नाकाम रहीं। पुलिस के मुताबिक, तीनों कंपनियों पर कुल 5.40 करोड़ रुपए का बकाया था।

रांची के सांसद संजय सेठ ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी को शर्मनाक और अलोकतांत्रिक बताया है। सांसद सेठ ने कहा कि, महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर एक पत्रकार को इस तरह अपराधियों की तरह बिना वारंट के गिरफ्तार करना लोकतंत्र पर काला धब्बा है। महाराष्ट्र की फांसीवादी ताकतें लोकतंत्र का गला घोंट रही है। यह एक बेहद शर्मनाक कार्रवाई है। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है।

बिना समन जबरन गिरफ्तार करने के मामले पर अभिनेत्री कंगना रनौत ने गुस्सा जाहिर किया है और महाराष्ट्र सरकार पर जमकर हमला बोला है। कंगना ने पूछा कि, ‘मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कितनी आवाजों को बंद करने की कोशिश करेंगे?’

 

Related posts