30 साल बाद जापान को मिलेगा नया राजा, 200 सालों में राजगद्दी छोड़ने वाले पहले राजा बने अकिहितो

emperor akihito,japan,japan new emperor

चैतन्य भारत न्यूज

जापान के राजघराने में कई सालों बाद बदलाव होने जा रहा है। जापानी सम्राट अकिहितो तीन दशक तक शासन करने के बाद अब अपनी गद्दी छोड़ रहे हैं। 85 साल की उम्र में सम्राट अकिहितो ने ये बड़ा फैसला लिया है। बता दें पिछले 200 वर्षों में यह पहला ऐसा अवसर है जब जापान के शाही घराने में कोई राजा अपनी मर्जी से गद्दी छोड़ रहा है। उनके गद्दी छोड़ने की प्रक्रिया के दौरान कई औपचारिक रीति-रिवाज भी आयोजित किए गए। मंगलवार को सम्राट अकिहितो ने आखिरी बार अपने देश को संबोधित किया।

japan new emperor

सम्राट अकिहितो ने बताया कि, वे अपनी बढ़ती उम्र और गिरती सेहत के कारण यह राजगद्दी छोड़ रहे हैं। इससे पहले साल 2016 में सम्राट अकिहितो ने इस गद्दी को छोड़ने के संकेत दिए थे। सम्राट अकिहितो के राजगद्दी छोड़ने के बाद अब इसकी कमान उनके 59 वर्षीय बेटे युवराज नारोहितो संभालेंगे। बुधवार को औपचारिक आयोजन के साथ ही युवराज नारोहितो को गद्दी का कार्यभार सौंप दिया जाएगा। इसके साथ ही वह शाही खजाने के वारिस घोषित कर दिए जाएंगे।

japan new emperor,naruhito,chaitanyabharat

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार रात 12 बजे तक अधिकारित रूप से अकिहितो ही जापान के सम्राट रहेंगे। फिर युवराज नारोहितो जापान के 126वें राजा बनेंगे। इसके अलावा युवराज नारोहितो जापान के राज परिवार के पहले ऐसे सदस्य होंगे जिन्होंने विदेश में (ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से) शिक्षा ग्रहण की है। कहा जा रहा है कि राजगद्दी संभालने के बाद युवराज नारोहितो अपने पिता के काम को तो आगे बढ़ाएंगे ही और इसके साथ ही वैश्विक परिदृश्य में भी नारोहितो की अहम भूमिका होगी।

Related posts