ब्रिटेन: जिस वैज्ञानिक ने दी लॉकडाउन की सलाह, उन्हीं ने गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए तोड़ा सोशल डिस्टेंसिंग का नियम, देना पड़ा इस्तीफा

चैतन्य भारत न्यूज

लंदन. ब्रिटेन के जिस वैज्ञानिक ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को देश में लॉकडाउन लगाने की सलाह दी, उसी ने लॉकडाउन का उल्लंघन कर दिया। इसके चक्कर में उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। हम बात कर रहे हैं ब्रिटेन के प्रमुख वैज्ञानिक नील फर्ग्यूसन के बारे में जिन्होंने अपनी शादीशुदा प्रेमिका से मिलने के लिए नियमों को तोड़ दिया।

‘प्रोफेसर लॉकडाउन’ के नाम से हैं मशहूर

लॉकडाउन की सिफारिश करने की वजह से उन्हें ‘प्रोफेसर लॉकडाउन’ भी कहा जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, प्रोफेसर नील फर्ग्यूसन ने लॉकडाउन के दौरान अपनी प्रेमिका को बार घर आने की इजाजत दी। प्रोफेसर नील की गर्लफ्रेंड अपने पति और बच्चों के साथ दूसरे घर में रहती हैं। उन्होंने अपनी गलती स्वीकार की और कहा कि, ‘मुझे इसका बेहद अफसोस है। संक्रमण को रोकने के लिए सरकार सोशल डिस्टेंसिंग का संदेश दे रही है और मैंने इसका उल्लंघन किया।’ इसके बाद मंगलवार रात को उन्होंने सरकार के एडवाइजर पद से इस्तीफा दे दिया।

संग्रामक रोगों के प्रोफेसर

नील फर्ग्यूसन लंदन के इंपीरियल कॉलेज में संग्रामक रोगों के प्रोफेसर हैं। महामारी विज्ञान विशेषज्ञ नील फर्गसन ने लंदन में उस टीम का नेतृत्व किया जिसने कंप्यूटर-मॉडल रिसर्च किया और इसके आधार पर देश में लॉकडाउन लगाया गया। इस रिसर्च में दावा किया गया था कि, बिना उपाय के ब्रिटेन में पचास लाख से ज्यादा लोग मारे जाएंगे। इसके तुरंत बाद प्रधानमंत्री जॉनसन ने देश में लॉकडाउन का ऐलान किया था।

जनवरी में कोरोना के खतरे से किया आगाह

प्रोफेसर लॉकडाउन ने कहा कि, वे साइंटिफिक एडवाइजरी ग्रुप फॉर इमरजेंसी के पद से पीछे हट रहे हैं। वे सेंटर फॉर ग्लोबल इंफेक्शस डिजीज एनालिसिस के निदेशक हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसी संस्था ने जनवरी में दुनिया को कोरोना के खतरे से आगाह किया था। यह संस्था सरकारों और डब्ल्यूएचओ को अफ्रीका में इबोला से लेकर कोरोना महामारी तक के मामलों में सलाह देती है।

Related posts