ऋषि पंचमी व्रत करता है हर नारी को दोषों से मुक्त, जानिए इसका महत्व और पूजा-विधि

rishi panchami vrat, rishi panchami vrat 2019, rishi panchami vrat katha ,rishi panchami vrat puja vidhi

चैतन्य भारत न्यूज 

भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को ऋषि पंचमी के नाम से जाना जाता है। इस साल ऋषि पंचमी व्रत 23 अगस्त को है। अनजाने में हुए दोषों से मुक्ति पाने के लिए महिलाएं इस व्रत को करती हैं। आइए जानते हैं ऋषि पंचमी व्रत का महत्व और पूजा-विधि।

rishi panchami vrat, rishi panchami vrat 2019, rishi panchami vrat katha ,rishi panchami vrat puja vidhi

ऋषि पंचमी व्रत का महत्व

हिंदू धर्म में पवित्रता का बहुत अधिक महत्व है। महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान कई नियमों का पालन करने के लिए कहा जाता है लेकिन अनजाने में कई गलतियां हो जाती हैं जिससे मुक्ति पाने के लिए महिलाएं इस व्रत को करती हैं। इस व्रत में सप्त ऋषि की पूजा की जाती है और उनकी कथा सुनी जाती है।

rishi panchami vrat, rishi panchami vrat 2019, rishi panchami vrat katha ,rishi panchami vrat puja vidhi

ऋषि पंचमी व्रत की पूजा-विधि

  • ऋषि पंचमी के दिन महिलाओं को सूर्योदय से पूर्व उठना चाहिए और साफ वस्त्र धारण करने चाहिए।
  • पूजा के दौरान कलश की स्थापना की जाती है।
  • सप्त ऋषियों की हल्दी, चंदन, पुष्प अक्षत आदि से पूजा की जाती है।
  • इसके बाद महिलाएं सप्तऋषि की कथा सुनती हैं।
  • इस व्रत के दौरान महिलाएं जमीन में बोया हुआ अनाज ग्रहण नहीं करती है। बल्कि पसई धान के चावल खाएं जाते हैं।

ये भी पढ़े…

दरिद्रता से बचना चाहते हैं तो गणेश चतुर्थी पर भूलकर भी न करें ये गलतियां

गणेश चतुर्थी : इन चीजों को अर्पित करने से खुश होते हैं बप्पा, पूरी होती है सभी मनोकामनाएं

इस बार गणेश चतुर्थी पर बन रहा है यह विशेष संयोग, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा-अर्चना

Related posts