रोहित शेखर हत्या मामलाः मां उज्ज्वला ने कोर्ट में कहा अपूर्वा ने तनाव में की थी रोहित की हत्या

apoorva shukla,rohit shekhar

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री व कई राज्यों में राज्यपाल रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या के मामले में उनकी मां उज्ज्वला ने शनिवार को कोर्ट में बयान दर्ज कराया।

उन्होंने बताया कि शेखर की पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने उसकी हत्या बेहद निराशा में आकर की थी। निराशा की वजह उसका मकसद पूरा न हो पाना था। उसे इंदौर से चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस का टिकट चाहिए था और उसकी यह इच्छा पूरी नहीं हो पा रही थी।

गौरतलब है कि अपूर्वा मध्य प्रदेश के इंदौर की रहने वाली हैं। एडिशनल सेशन जज संदीप यादव की कोर्ट में दिए बयान में उज्ज्वला ने बताया कि अपूर्वा रोहित से शादी करके उसकी राजनीतिक पृष्ठभूमि का फायदा उठाना चाहती थी। पार्टी ने जब अपूर्वा को टिकट देने से इनकार कर दिया तो उसे गुस्सा व निराशा हुई। उसने रोहित से झगड़ना शुरू कर दिया और मकसद में नाकाम होने पर उसने रोहित की हत्या कर दी।

उज्ज्वला की ओर से कोर्ट में पेश हुए वकील तारिक नासिर ने बताया कि रोहित और अपूर्वा की शादी के तत्काल बाद ही दोनों के बीच विवाद होना शुरू हो चुका था। अपूर्वा रोहित से जिद करती थी कि वह अपनी मां से अलग रहे और पारिवारिक मामलों में मां की बात न मानें लेकिन रोहित ने ऐसा नहीं किया। वकील होने के नाते अपूर्वा ने हत्या की बात छुपाना भी चाही थी।

हत्या के बाद अपूर्वा ने कहा था कि शव के पोस्टमार्टम की क्या जरूरत है। अगर पोस्टमार्टम हो जाएगा तो गंगा में क्या बहाएंगे? मामले की अगली सुनवाई 26 फरवरी के बाद होगी। गौरतलब है कि रोहित शेखर की पिछले साल 15 व 16 अप्रैल को संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। हत्या के आरोप में पत्नी अपूर्वा को गिरफ्तार किया गया था।

अपूर्वा की स्थिति ठीक नहीं

वहीं अपूर्वा के वकील ने बताया कि अपूर्वा की हालत जेल में काफी खराब है और वह अपने तनाव से बाहर नहीं आ पा रही है। जेल प्रशासन ने कोर्ट को बताया कि उनके मानसिक तनाव को दूर करने के लिए उनका जेल में अच्छा इलाज किया जा रहा है। उनको जेल में कई बार थैरेपी भी दी गई। कोर्ट ने जेल प्रशासन को आदेश दिया है कि वह अपूर्वा का बेहतर इलाज सुनिश्चित करवाए।

 

Related posts