NEET-JEE EXAM 2020: NTA ने दोनों परीक्षाओं के लिए जारी किए अहम दिशानिर्देश, पालन नहीं करने पर होगी ‘नो एंट्री’

चैतन्य भारत न्यूज

इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली परीक्षा जेईई और नीट के आयोजन में अब बेहद कम दिन बचे हैं। बता दें जेईई की परीक्षा 1 सितंबर से लेकर 6 सितंबर के बीच आयोजित होगी। जबकि नीट परीक्षा 13 सितंबर को होगी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने दोनों ही प्रवेश परीक्षाओं के लिए अब दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। यदि अभ्यर्थी इन दिशानिर्देशों का पालन नहीं करेंगे, तो उनको परीक्षा केंद्रों के भीतर प्रवेश नहीं मिलेगा।

साथ ही शिक्षा मंत्रालय ने भी यह साफ कर दिया है कि दोनों परीक्षाएं तय शेड्यूल से ही होंगी। मंगलवार रात केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने इन दोनों ही प्रवेश परीक्षाओं के लिए राज्यवार परीक्षा केंद्रों की सूची भी जारी कर दी है। इसमें यह बताया गया है कि इन परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्रों को बढ़ाया गया है। जानकारी के मुताबिक, जेईई परीक्षा के केंद्र 570 से बढ़ाकर 660 किए गए हैं। वहीं नीट के केंद्र 2,846 से बढ़ाकर 3843 कर दिए गए हैं। जेईई मेन परीक्षा के लिए नंबर ऑफ शिफ्ट्स बढ़ाई गईं हैं। पहले इस परीक्षा के लिए 8 शिफ्ट तय थीं, जिसे अब बढ़ाकर 12 किया गया है। वहीं, प्रति पाली अभ्यर्थियों की संख्या घटाकर 1.32 लाख से 85,000 कर दी गई है।

जेईई मेन के लिए जारी हो चुका है एडमिट कार्ड 

बता दें जेईई मेन परीक्षा का प्रवेश पत्र जारी हो चुका है। नीट का प्रवेश पत्र अभी जारी होना बाकी है। एनटीए ने जेईई के प्रवेश पत्र जारी करते हुए कहा था कि, करीब 99 फीसदी अभ्यर्थियों को उनका चुना परीक्षा केंद्र दिया गया है। इस साल  जेईई मेन के लिए 8.58 लाख और नीट के लिए 15.97 लाख अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। ये दोनों ही परीक्षाएं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए आयोजित होंगी। अभ्यर्थियों के लिए हॉल में प्रवेश द्वार और परीक्षा के बाद निकासी द्वार अलग-अलग रखा जाएगा।’

NEET-JEE परीक्षा को लेकर जरूरी दिशानिर्देश

  • सभी अभ्यर्थियों को मास्क और ग्लब्स पहनकर परीक्षा देनी होगी।
  • अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों में नये मास्क और ग्लब्स दिए जाएंगे।
  • हर अभ्यर्थी को सेल्फ डिक्लरेशन देना होगा कि वो कोरोना पॉजिटिव नहीं है।
  • छात्रों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले साबुन से हाथ भी धोने होंगे।
  • घर से पारदर्शी बोतल में पानी लाना होगा। खुद का सैनिटाइजर भी लाना होगा।
  • नीट परीक्षा के दौरान हर परीक्षा हॉल में सिर्फ 12 अभ्यर्थी ही बैठेंगे।
  • जेईई परीक्षा में एक-एक सीट छोड़कर अभ्यर्थियों को बिठाया जाएगा।
  • परीक्षार्थियों को एक-दूसरे से छह फीट की दूरी बनानी होगी।
  • अभ्यर्थियों, शिक्षकों और स्टाफ का थर्मल स्क्रीनिंग से तापमान नापा जाएगा।
  • हर परीक्षा केंद्र को परीक्षा से पहले ठीक से सैनिटाइज किया जाएगा।

Related posts