सोशल मीडिया पर उड़ी पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन की अफवाह, परिवार और अस्पताल ने दी सफाई

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। पूर्व राष्ट्रपति लगातार वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। इसी बीच किसी ने सोशल मीडिया पर उनकी मौत की अफवाह उड़ा दी। इसके बाद ट्विटर पर प्रणब मुखर्जी की मौत की अफवाह ट्रेंड होने लगी। फिर उनके परिवार और अस्पताल की तरफ से ये साफ कर दिया गया है कि प्रणब मुखर्जी अभी जिंदा हैं और वो वेटिंलेटर पर हैं।

I am extremely sorry that false news of demise of Sh Pranab Mukherjee former President of India was posted in my page ….

Posted by Kuldeep Singh Rathore on Wednesday, August 12, 2020

हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष ने शेयर की गलत खबर 

बता दें हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रणब मुखर्जी के निधन की फर्जी खबर फेसबुक पर शेयर कर दी थी। कुलदीप सिंह राठौर ने आज करीब सुबह नौ बजे यह खबर अपने फेसबुक अकाउंट के जरिए शेयर की और बाद में पोस्ट को हटा लिया। इनकी इस पोस्ट को कुछ लोगों ने भी शेयर किया।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा ये झूठ है

प्रणब मुखर्जी की बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने ट्वीट कर कहा कि, ‘उनके पिता के बारे में जो अफवाह उड़ाई जा रही है, वो बिल्कुल झूठ है।’ साथ ही उन्होंने मीडिया से यह आग्रह भी किया है कि, वो उन्हें कॉल न करें। शर्मिष्ठा ने ये भी कहा कि वो अपना मोबाइल फ्री रखना चाहती हैं, जिससे उन्हें अस्पताल से पिता के हेल्थ को लेकर जानकारी मिलती रहे।

अस्पताल ने जारी किया बुलेटिन

आर्मी अस्पताल की तरफ से प्रणब मुखर्जी का मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया है जिसके मुताबिक, उनकी हालत अब भी नाजुक है और वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने अपने ताजा मेडिकल बुलेटिन में कहा, ‘पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में सुबह से कोई बदलाव नहीं दिखा है। वे कोमा जैसी हालत में हैं। उन्हें लगातार वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा जा रहा है।’

सोमवार को पाए गए थे कोरोना वायरस से संक्रमित

मुखर्जी सोमवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे, जिसके बाद उन्हें सेना के आर एंड आर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पूर्व राष्ट्रपति के दिमाग से खून का थक्का हटाने के लिए ब्रेन सर्जरी हुई थी, जो सफल रही। सर्जरी के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

Related posts