कोरोना वायरस: 10 से 12 अगस्त के बीच रूस कर सकता है दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन को लॉन्च, ट्रायल हुए पूरे

corona test

चैतन्य भारत न्यूज

मॉस्को. दुनियाभर में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। कई देश इसकी वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। इसी बीच रूस ने यह दवा किया है कि 10 से 12 अगस्त के बीच कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) को लॉन्च कर दिया जाएगा। यदि यह वैक्सीन लॉन्च हो जाती है तो यह दुनिया की पहली कोरोना की वैक्सीन होगी।

3 से 7 दिनों में बाजार में होगी उपलब्ध

समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग के अनुसार, वैक्सीन लॉन्च को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, पहले इसे रजिस्टर्ड किया जाएगा और फिर 3 से 7 दिनों के अंदर ये वैक्सीन लोगों के लिए बाजार में उपलब्ध होगी। पहले रूस ने कहा था कि, 15-16 अगस्त तक ये वैक्सीन आएगी। इस वैक्सीन को गामालेया नेशनल रिसर्च सेंटर आफ ऐपीडेमीलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी ने तैयार किया है।

अच्छे नतीजों का दावा

रूस ने यह भी दावा किया है कि ये कोरोना को मात देने के लिए दुनिया की पहली वैक्सीन है। इस वैक्सीन को लगाने के बाद नतीजे बहुत सकारात्मक आए हैं। ट्रायल किए जा रहे व्यक्ति की इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर रिस्पांस कर रही थी। व्यक्ति पर किसी भी किस्म का साइड इफेक्ट नहीं पाया गया। वॉलंटियर का बुरडेंको हॉस्पिटल में टेस्ट किया गया। गामालेया इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों का कहना इस वैक्सीन को आम जनता के इस्तेमाल के लिए 10 अगस्त तक मंजूरी दिलवा लेंगे। लेकिन सबसे पहले फ्रंटलाइन हेल्थवर्कर्स को दी जाएगी। यानी वो लोग कोरोना के इलाज में जुटे हैं।

Related posts