राजस्थान : सचिन पायलट के बागी हुए तेवर, गहलोत सरकार संकट में, पार्टी से पायलट को निकाला जा सकता है

चैतन्य भारत न्यूज

जयपुर. राजस्थान में कांग्रेस की मौजूदा सरकार संकट में है। शनिवार को ही प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि वो उनकी सरकार गिराने में लगी हुई है। सचिन पायलट ने अब मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है।

सचिन पायलट के भी ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह बीजेपी में जाने की अटकलें तेज हो गई है। इसी बीच कांग्रेस के भी तेवर सख्त हो गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस ने सोमवार को विधायक दल की होने वाली बैठक के लिए व्हिप जारी कर रखा है। ऐसे में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक बैठक में नहीं शामिल होते हैं तो उनकी सदस्यता खत्म हो सकती है।

सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे। सचिन पायलट अभी दिल्ली में ही हैं और वो वो जयपुर नहीं जाएंगे। दिल्ली में मौजूद रहने के बावजूद सचिन पायलट कांग्रेस आलाकमान से मिलने नहीं गए। बता दें रविवार को पायलट ने पार्टी से बगावत के संकेत देते हुए दावा किया था कि उनके साथ तीस से अधिक विधायक हैं और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है। हालांकि, पायलट के दावे के उलट कांग्रेस ने कहा है कि गहलोत सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है और अपना कार्यकाल पूरा करेगी।

कहा जा रहा है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा हो सकती है। नए प्रदेश अध्यक्ष में रघुवीर मीणा का नाम सामने आ रहा है जो कि गहलोत के करीबी हैं।

Related posts