46 के हुए ‘क्रिकेट के भगवान’, सचिन के बारे में ये दिलचस्प बातें नहीं जानते होंगे आप

sachin tendulkar,sachin tendulkar birthday,sachin tendulkar wife

चैतन्य भारत न्यूज

क्रिकेट के भगवान यानी सचिन तेंदुलकर ने आज अपने जीवन के 46 साल पूरे कर लिए हैं। सचिन ने महज 16 की उम्र में ही क्रिकेट के मैदान पर कदम रख लिया था। 40 साल के हो जाने के बाद सचिन ने अपने बल्ले को आराम दे दिया था। सचिन ने वर्ष 2014 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने अपने करियर में कई कीर्तिमान रचे हैं और इसलिए उन्हें क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। सचिन के 46वें जन्मदिन पर हम आपको उनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें बता रहे हैं-

सचिन की भगवान में गहरी आस्था

शुरुआत से ही सचिन की भगवान के प्रति गहरी आस्था है। 02 अप्रैल 2011 को जब भारतीय क्रिकेट टीम मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में फाइनल मैच जीतने की ओर आगे बढ़ रही थी तो उस समय सचिन ने अपनी आंख बंद कर ली और वे भगवान की पूजा में जुट गए। उन्होंने टीम की जीत के लिए दुआ की थी और मन्नत मांग कर अपनी दाढ़ी बढ़ा ली थी। जब टीम इंडिया ने मैच जीता तो इसके बाद सचिन सिद्धिविनायक दर्शन करने गए। फिर उन्होंने दाढ़ी भी साफ कर ली। सचिन ने बताया था कि वे रोजाना पूजा करते हैं और समय मिलने पर मंदिर भी जाते हैं।

sachin tendulkar

मारुति 800 थी सचिन की पहली कार

सचिन के पास फिलहाल एक से बढ़कर एक लग्जरी कारें हैं। सचिन बहुत बड़े कार लवर हैं। बचपन में सचिन के घर के पास एक ड्राइव इन थिएटर था जिसमें वे तमाम तरह की कार देखते रहते थे। तब से ही सचिन का कारों के प्रति आकर्षण बढ़ता गया। सचिन ने साल 1990 में अपना पहला टेस्ट शतक लगाकर घर लौटने के बाद पहली कार सेकेंड हैंड मारुति 800 खरीदी थी।

sachin tendulkar

सामाजिक कार्यों में आगे

सचिन तेंदुलकर चैरिटी के मामले में हमेशा आगे रहते हैं। सचिन कई ऐसी संस्थाओं के जुड़े हैं जो समाज के कल्याण का काम करती हैं। सचिन अपनी कमाई का एक हिस्सा हमेशा सामाजिक कार्यों के लिए देते हैं। सचिन मुंबई के ‘अपनालय’ नाम के एनजीओ के करीब 200 बच्चों की पढ़ाई का खर्च भी उठाते हैं। सचिन का कहना है कि उन्हें सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा उनके पिता से मिली है।

बचपन के दोस्त अभी तक साथ

सचिन का बचपन मुंबई के बांद्रा की साहित्य सहवास कालोनी में बीता है। सचिन बचपन में जिन भी दोस्तों के साथ खेले हैं वे आज भी उनके साथ जुड़े हुए हैं। भले ही सचिन के परिवार ने अब वो कॉलोनी छोड़ दी हो लेकिन उन्होंने वहां का मकान अपने पास ही रखा हुआ है। कई बार सचिन समय मिलने पर पुरानी यादें ताजा करने वहां चले जाते हैं। साहित्य सहवास कॉलोनी में जब भी कोई कार्यक्रम होता है तो सचिन की पत्नी अंजलि वहां जरूर शामिल होती हैं। इतना ही नहीं सचिन की बेटी सारा का पहला बर्थडे सेलिब्रेशन भी इसी कॉलोनी म किया गया था।

sachin tendulkar

Related posts