शहीद हेमंत करकरे पर विवादित टिप्पणी के कारण हुई आलोचना, तो साध्वी प्रज्ञा ने वापस लिया अपना बयान

sadhvi pragya thakur,pragya thakur statment on hemant karkare

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. बीजेपी की ओर से भोपाल लोकसभा सीट की प्रत्याशी और मालेगांव बम विस्फोट मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर इन दिनों अपने बयानों के चलते लगातार सुर्खियों में हैं। प्रज्ञा ने मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए एटीएस चीफ हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान दिया था जिसके बाद उनकी खूब आलोचना हुई थी। अपनी आलोचना को देखते हुए प्रज्ञा ने शहीद हेमंत पर दिया विवादित बयान वापस ले लिया।

विरोधी अपने अंत की चिंता करें

प्रज्ञा ने कहा कि, उनके बयान से दुश्मन मजबूत हो रहे हैं, इसलिए वह अपनी टिप्पणी वापस ले रही हैं। प्रज्ञा ने बयान वापस लेते हुए कहा कि, ‘यह मेरा निजी बयान था, जो कि मैंने सही गई पीड़ा की वजह से दिया है। आतंकी हमले में शहीद होने वाले व्यक्ति का सम्मान करना चाहिए। मैं हमेशा सोच समझकर ही बोलती हैं। मैं कभी भी अर्नगल बयान नहीं देती।’ प्रज्ञा ने कहा कि, ‘साध्वी का अंत नहीं होगा। देश विरोधी लोग अपने अंत की चिंता करें। जो सत्य है वही उजागर होता है।’

क्या था प्रज्ञा का विवादित बयान

बता दें प्रज्ञा ने एक सभा के दौरान शहीद हेमंत पर आरोप लगाया था कि, शहीद हेमंत ने उन्हें गलत तरीके से फंसाया था। प्रज्ञा ने कहा था कि, ‘जांच अधिकारी ने हेमंत करकरे को बुलाया और कहा कि साध्वी को छोड़ दो। लेकिन हेमंत ने कहा कि मैं कैसे भी करके सबूत लाउंगा और साध्वी को नहीं छोड़ूंगा।’ प्रज्ञा ने आगे कहा था कि, ‘मैंने उसे (हेमंत करकरे) कहा था तेरा सर्वनाश होगा, उसने मुझे गालियां दी थीं। जिस दिन मैं गई तो उसके यहां सूतक लगा था और जब उसे आतंकियों ने मारा तो सूतक खत्म हुआ।’

ये भी पढ़े… 

जेल में हुए टॉर्चर को याद कर रो पड़ीं साध्वी प्रज्ञा, मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे पर दिया विवादित बयान

भाजपा में शामिल हुईं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, दिग्विजय सिंह के खिलाफ लड़ सकती हैं चुनाव

Related posts