सतनाः पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने निकाला मौन जूलूस

चैतन्य भारत न्यूज।

सतना। चित्रकूट मेें दो मासूम जुड़वा भाइयों की निर्मम हत्या के बाद हर कोई शोक डूबा में है। आज सुबह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मासूमों को श्रद्धांजलि अर्पित करने मौन जुलूस निकाला।

शिवराज सिंह ने कहा आज हमने मौन जुलूस इसलिए निकाला ताकि दिवंगत दोनों बेटों श्रेयांश और प्रियांश को श्रद्धा सुमन अर्पित कर सकें और भगवान से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर सकें।

डर का माहौल हो खत्म

उन्होंने कहा हम चाहते हैं बिना डर के बच्चे स्कूल जा सकें।आतंक का वातावरण खत्म हो। परमात्मा से प्रार्थना है कि वे परिजनों को इस दुख की घड़ी में शक्ति प्रदान करें।

नदी में मिले थे मासूम बच्चों के शव

चित्रकूट से 12 फरवरी को अगवा किए गए दो जुड़वां भाइयों श्रेयांश और प्रियांश के शव 12 दिन बाद रविवार को बांदा में यमुना नदी में मिले। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने एक करोड़ रुपए फिरौती मांगी थी। पुलिस ने 6 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

दिए 20 लाख

परिजन ने 20 लाख रुपए दे भी दिए थे। अपहृत बच्चों को ढूंढने में एमपी-यूपी की 26 पुलिस टीम के साथ ही साथ एसटीएफ फेल रही।

अपहरणकर्ताओं ने क्रूरतापूर्व दोनों मासूमों के हाथ पैर रस्सी व जंजीर से बांधकर जिंदा मर्का थाना क्षेत्र के औगासी गांव से करीब तीन किलोमीटर दूर बाकल गांव के समीप देवी मंदिर के बगल से बह रही यमुना नदी में फेंक दिया था।  बच्चों के शव बरामद होने के बाद चित्रकूट में कुछ जगहों पर हिंसा की भी खबरें हैं। बच्चों की उम्र छह साल थी।

बंदूक की नोंक पर किया था अपहरण

बता दें कि 12 फरवरी को चलती बस से बंदूक की नोंक पर दोनों बच्चों का अपहरण किया गया था।

घटना का वीडियो देखें…

सतना अपहरणः डीजीपी ने बदमाशों का सुराग देने वालों पर घोषित किया 50 हजार का इनाम

 

 

 

Related posts