सावन के आखिरी शनिवार को बन रहा है यह खास संयोग, राशि के अनुसार करें पूजा

bholenath

चैतन्य भारत न्यूज

धन प्राप्ति के लिए सावन का हर शनिवार ही बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। कहावत है कि सावन के हर शनिवार को शनिदेव की कृपा बहुत ही सरलता से मिल सकती है। यदि सावन के शनिवार को शनिदेव की उपासना कर ली तो फिर पूरे साल शनिदेव की उपासना करने की आवश्यकता नहीं रहती है। आज सावन का आखिरी शनिवार है और साथ ही दशमी तिथि का भी संयोग बन रहा है। इस वजह से आज का शनिवार बेहद फलदायी हो गया है। साथ ही इस दिन शनिदेव की पूजा-अर्चना करने से शनि से संबंधित सभी समस्या का निवारण हो सकता है।

सावन के अंतिम शनिवार को इस तरह के वरदान मिल सकते हैं

  • आर्थिक समस्याओं और कर्ज से छुटकारा मिल सकता है।
  • संतान संबंधी सभी समस्या दूर हो सकती है।
  • दुर्घटनाओं से रक्षा हो सकती है।
  • स्वास्थ्य और लंबी आयु का भी वरदान मिल सकता है।
  • शनि की साढ़ेसाती की समस्या से भी छुटकारा मिल सकता है।
  • शनि से संबंधित अन्य सभी समस्याएं दूर हो सकती है।

राशिनुसार सावन के अंतिम शनिवार को ऐसे करें पूजा

मेष राशि – भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाएं और शनि मंत्र का जप करें।

वृष राशि – पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाएं और नमः शिवाय का जप करें।

मिथुन राशि – पीपल का पौधा लगाएं और शनि मंत्र का जप करें।

कर्क राशि – पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाएं और भोजन का दान करें।

सिंह राशि – शिव मंत्र का जप करें और सिक्कों का दान करें।

कन्या राशि – भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाएं और दीपक जलाएं।

तुला राशि – शिव मंत्र का जप करें और काली दाल का दान करें।

वृश्चिक राशि – शनि मंत्र और शिव मंत्र का जप करें।

धनु राशि – शनि मंत्र का जप करें और खाने पीने की चीजों का दान करें।

मकर राशि – शिव जी को जल अर्पित करें और उनके सामने दीपक जलाएं।

कुंभ राशि – काली वस्तुओं का दान करें और शिव मंत्र का जप करें।

मीन राशि – शनि मंत्र का जप करें और पीपल का पौधा लगाएं।

ये भी पढ़े… 

शनिवार को भूलकर भी ना खरीदें ये 8 चीजें, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान

शनि देव की असीम कृपा पाने के लिए आज इस विधि से करें पूजा

Related posts