नागरिकता संशोधन कानून : जामिया के बाद अब दिल्ली के सीलमपुर में हिंसक प्रदर्शन-आगजनी, कई वाहनों में तोड़फोड़, हालात काबू में

Seelampur

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हो रहा है। उत्तर पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर इलाके में भी बड़ी संख्या में लोगों ने उग्र प्रदर्शन किया। उनकी मांग की थी कि भेदभाव वाले संविधान विरोधी नए नागरिकता कानून को वापस लिया जाए। प्रदर्शन के दौरान लोगों ने कई गाड़ियों के शीशे भी तोड़ दिए। इस दौरान उन्होंने पथराव भी किया जिसमें कुछ पुलिसवाले और प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं। हालांकि, अब हालात काबू में है।


पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे

पुलिस की टीम ने उपद्रवियों को मौके पर से हटा दिया है और हालात शांतिपूर्ण हो गए हैं। बता दें भीड़ इतनी बेकाबू हो गई थी कि पुलिस ने उसे नियंत्रण में करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। जानकारी के मुताबिक, भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने हल्के बल का प्रयोग किया और इस दौरान कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया। प्रदर्शन और हिंसा के चलते सीलमपुर से जाफराबाद सड़क को बंद कर दिया गया था। साथ ही सीलमपुर, जफरबाद, वेलकम, मौजपुर-बाबपुर, गोकुलपुरी समेत कई मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिए गए थे। यानी मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो नहीं रूक रही है, हालांकि मेट्रो सेवा चालू है।

कई वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद

सीलमपुर में यह बवाल करीब दो घंटे तक चला। इस दौरान हाथ में तिरंगा लेकर कई लोग प्रदर्शन कर रहे थे और नए नागरिकता कानून को हटाने की मांग कर रहे थे। देखते-देखते प्रदर्शन ने उग्र रूप से ले लिया, जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। साथ ही मौके पर अतिरिक्त फोर्स भी तैनात की गई। गौरतलब है कि इससे पहले रविवार रात जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हिंसा और प्रदर्शन हुआ था।

ये भी पढ़े…

नागरिकता संशोधन एक्ट : असम में पुलिस फायरिंग के दौरान चार लोगों की मौत, 190 लोग गिरफ्तार

नागरिकता कानून: जामिया में हिंसक प्रदर्शन, 50 छात्रों की रिहाई के बाद तड़के 4 बजे खत्म हुआ धरना, NHRC में दिल्ली पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ असम में प्रदर्शन तेज, 16 दिसंबर तक इंटरनेट और स्कूल-कॉलेज रहेंगे बंद

Related posts