खाने में रोटी कम देती थी मालकिन, तो नौकर ने बेरहमी से रेत दिया गला

muder, hariyana

चैतन्य भारत न्यूज

भूख सबसे बड़े दर्द में से एक है। इस दर्द को मिटाने के कारण व्यक्ति किसी भी हद तक गुजर जाता है। ऐसा ही एक मामला हरियाणा के यमुनानगर में देखने को मिला है। यहां एक नौकर ने अपनी मालकिन की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वो उसे पेटभर खाना नहीं देती थी।

मामला यमुनानगर की न्यू जैन नगर कॉलोनी के एक हाई प्रोफाइल घर का है। नौकर ने महिला की धारधार हथियार से हत्या कर दी। नौकर ने इस वारदात को तब अंजाम दिया जब महिला घर पर अकेली थी। घटना के बाद जब परिवार ने सौ नंबर डायल किया तो घंटी बजती रही, लेकिन पुलिस नहीं आई। फिर परिवार के लोग आखिरकार खुद ही थाने जाकर पुलिस को बुलाकर लाए। सूत्रों के मुताबिक, राजेंद्र सिक्का नामक व्यक्ति एक क्रैशर के मालिक हैं। उनकी 26 वर्षीय बहु रोजी की हत्या की गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोपहर के समय रोजी घर पर अकेली थी। घर का नौकर सामने अपने कमरे में था। घटना को अंजाम देने के थोड़ी देर बाद नौकर घर आया और लगातार घर की घंटी बजाने लगा लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला। फिर नौकर ने अपने मालिक को फोन कर बताया कि मालकिन दरवाजा नहीं खोल रही हैं। मालिक ने घर आकर नौकर से किसी तरह दीवार फांदकर दरवाजा खुलवाया। अंदर का नजारा देख उनके होश उड़ गए। मौत की सूचना पाकर जो लोग घर पर आए थे उन्हें नौकर पानी भी पिलाता रहा। फिर पुलिस ने आकर पूछताछ शुरू की। जब पुलिस ने दबिश देकर नौकर से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

फरवरी, 2018 में ही रोजी की शादी दीपांशु से हुई थी। उन दोनों का पांच माह का बेटा भी है। आरोपी नौकर का नाम राजेश पासवान है। शनिवार को आरोपी को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी राजेश ने कहा कि, मालिक दीपांशु की शादी से पहले घर में वो ही खाना बनाता था। वो जो चाहे खाता था। लेकिन जब से घर में मालकिन आई तो उसने खाना बनवाना बंद कर दिया। इसके बाद से राजेश साफ-सफाई और कपड़े धोने का काम करने लगा। राजेश ने आगे कहा कि, ‘मुझे सात रोटी की भूख लगती थी, लेकिन मालकिन तीन रोटी से ज्यादा नहीं देती थी। मैंने कई बार उनसे कहा भी कि मेरी भूख नहीं मिटती। मार्च में मेरे पिता का देहांत हो गया। मैं घर बिहार गया था। जब मैं वहां से आया तो उसके बाद से मैं अपने हिस्से से एक रोटी कुत्ते को भी देने लगा।’

आरोपी राजेश के मुताबिक, जब गुरुवार को उसे बहुत भूख लगी तो उसने मालकिन से कहा। लेकिन मालकिन ने पति दीपांशु के आने तक खाना नहीं बनाने को कहा। राजेश ने कहा कि, ‘इस बात पर मुझे मालकिन पर इतना गुस्सा आया कि मैंने किचन से चाकू उठाया और उनके बिस्तर पर ही उनका गला रेत दिया। मालकिन ने कई बार खुद को बचाने की कोशिश भी की। उन्होंने मेरे हाथ को दांत से भी काटा, लेकिन मैंने छुड़ा लिया। इसके बाद मैं उनकी गर्दन पर करीब 5 मिनट तक चाकू चलाता रहा।’ राजेश के हाथ पर लगे निशान को देखकर पुलिस ने केस का खुलासा किया।

Related posts