बहन का पारिवारिक जीवन बचाने के लिए भाई को बनना पड़ा किन्नर

sex change,devendra,devika,transgender story,bhopal

चैतन्य भारत न्यूज

बहन का पारिवारिक जीवन बर्बाद न हो जाए इसलिए भाई ने अपना लिंग परिवर्तन करवा लिया और फीमेल ट्रांसजेंडर बन गया। यह मामला मध्य प्रदेश के भोपाल का है। दरअसल, देवेंद्र से देविका बनने की कहानी बहुत मार्मिक है। देवेंद्र को बहन की ननद ने धमकी दी थी कि यदि उसकी बहन ने उनके परिवार के खिलाफ थाने में दहेज प्रताड़ना का केस लगाया, तो वह देवेंद्र के खिलाफ ज्यादती का केस दर्ज करा देगी। बार-बार इस तरह की धमकी मिलने पर देवेंद्र काफी डर गया और अपना लिंग परिवर्तन करवाकर देवेंद्र से देविका बन गया।

देवेंद्र पहले सामान्य पुरुष की तरह ही रहता था और वह बिजनेस करता था। खबरों के मुताबिक, देवेंद्र की बहन की शादी 20 मई 2016 को हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ससुराल वालों ने देवेंद्र की बहन को दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। बहन के पारवारिक जीवन को बचाने के लिए देवेंद्र ने हर संभव कोशिश की लेकिन वह हर बार नाकामयाब रहा।

इसके बाद देवेंद्र ने पुलिस में शिकायत की तो बहन की ननद और सास ने मिलकर साजिश रची। ननद देवेंद्र के खिलाफ ज्यादती का केस दर्ज कराने थाने पहुंच गई जिससे देवेंद्र डर गया। इसके बाद नवंबर 2017 में देवेंद्र ने अपना लिंग बदलवा लिया और महिला के रूप में रहने लगा। देवेंद्र का कहना है कि घरवालों को परेशानी न हो इसलिए उसने अपना घर छोड़ दिया।

बहन की कराई दूसरी शादी

जब यह मामला विधिक सेवा प्राधिकरण में पहुंचा तो देवेंद्र की बहन को इंसाफ मिला। कानूनी सहायता से उसकी बहन का विधिवत तलाक हो गया। इसके बाद बहन की दूसरी शादी कर दी। देवेंद्र ने बताया कि, उसकी इकलौती बहन है जिसकी अब दूसरी जगह शादी कर दी। वह तीन भाई है, वह घर का सबसे बड़ा लड़का था। अब वह ट्रांसजेंडर के अधिकारों की लड़ाई लड़ रहा है।

वहीं भोपाल जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव न्यायधीश आशुतोष मिश्रा का कहना है कि बहन के दांपत्य जीवन को बचाने के लिए ट्रांसजेंडर बनने वाले युवक ने अपने मेडिकल दस्तावेज प्रस्तुत किए थे। लिंग परिवर्तन का फैसला उसका अपना फैसला था, इस मामले में हम कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकते क्योंकि एक ट्रांसजेंडर अपनी बहन की समस्या लेकर हमारे पास आया था, इसलिए उसकी मदद करना हमारा फर्ज था।

 

Related posts