इन 7 राज्यों में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न का एक भी केस नहीं, 50% से ज्यादा महिलाएं हैं नौकरीपेशा

चैतन्य भारत न्यूज

एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश के जिन राज्यों में सबसे ज्यादा महिलाएं नौकरी करती हैं, उन राज्यों में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के सबसे कम मामले देखने को मिले हैं। खासकर नॉर्थईस्ट के वो राज्य जहां 50% नौकरीपेशा महिलाएं हैं, लेकिन यौन उत्पीड़न का एक भी केस दर्ज नहीं हुआ है।

साल 2013 में बने कार्यस्थल पर महिलाओं का यौन उत्पीड़न रोकने वाले कानून के तहत सबसे ज्यादा केस बिहार में दर्ज हुए हैं। वहां कानून बनने के बाद 2014 और 2015 में तो एक भी केस दर्ज नहीं हुआ था लेकिन साल 2016 में 73 केस दर्ज हुए, जो देश में सबसे ज्यादा हैं। इस बात की जानकारी महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में दी है।

जानकारी के मुताबिक, साल 2015 में कुल 119 मामले दर्ज हुए जिनमें सबसे ज्यादा 36 केस दिल्ली में दर्ज हुए। इस दौरान नागर विमानन राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी उड़ान के दौरान हुए उत्पीड़न के केस के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि, तीन साल में (2014-2016) एयरलाइन कंपनियों में महिला क्रू मेंबर्स के साथ छेड़छाड़ और दुर्व्यवहार के करीब 15 मामले दर्ज किए गए हैं। जिनमें 10 मामले एयर इंडिया, 2 इंडिगो, 2 विस्तारा और एक केस जेट एयरवेज से जुड़ा हुआ है।

इन राज्यों में सबसे ज्यादा केस दर्ज हुए 

  • बिहार में साल 2014-15 में एक भी केस नहीं और साल 2016 में करीब 73 केस दर्ज हुए। यहां 17.8%  नौकरीपेशा वाली महिलाएं हैं।
  • दिल्ली में साल 2014 में 11 साल 2015 में 36 और साल 2016 में 9 केस दर्ज हुए। यहां 11.7% नौकरीपेशा वाली महिलाएं हैं।
  • महाराष्ट्र में साल 2014 में 10 साल 2015 में 27 और 2016 में 11 मामले सामने आए। यहां 32.8% नौकरीपेशा वाली महिलाएं हैं।
  • तेलंगाना में साल 2014 में 5 साल 2015 में 32 और 2016 में 8 केस दर्ज हुए। यहां 42.7% नौकरी वाली महिलाएं हैं।
  • आंध्र में साल 2014 में 3 साल 2015 में 3 और 2016 में 7 केस सामने आए। यहां 47.0% नौकरी करने वाली महिलाएं हैं।
  • केरल में साल 2014 में 6 साल 2015 में 0 और 2016 में 8 केस सामने आए। यहां 23.7% महिलाएं नौकरी करती हैं।
  • प. बंगाल में साल 2014 में 4 साल 2015 में 6 और 2016 में 0 मामले दर्ज हुए हैं। यहां 20.5% महिलांए नौकरी करती हैं।

वे राज्य जहां नौकरी करने वाली महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा है और इन राज्यों में यौन उत्पीड़न का एक भी केस दर्ज नहीं हुआ है।

मिजोरम 59%
नगालैंड 55.9%
अरुणाचल 51.6%
मेघालय 49.9%
सिक्किम 48.2%
त्रिपुरा 45.3%
मणिपुर 46.4%

Related posts