चिन्मयानंद और छात्रा समेत एसआइटी को मिली पांचों आरोपितों की रिमांड, आपत्तिजनक वीडियो की होगी जांच

चैतन्य भारत न्यूज

शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय मंत्री और यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद चिन्मयानंद और उन पर आरोप लगाने वाली छात्रा की रिमांड इस मामले की जांच कर रही एसआइटी को मिल गई है। इनके अलावा एसआइटी को तीन अन्य आरोपितों की रिमांड की अनुमति भी मिल गई। बता दें एसआइटी ने शुक्रवार को रिमांड के लिए आवेदन किया था।


वायरल वीडियो की आवाज का मिलान

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने इस संबंध में आदेश जारी किया। अब एसआइटी इन सभी को लेकर लखनऊ जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, लखनऊ के विधि विज्ञान प्रयोगशाला में इन सभी के वीडियो की आवाज का लैब में मिलान किया जाएगा। इस जांच के बाद ही एसआइटी की टीम इस केस को आगे बढ़ाएगी। बता दें शुक्रवार को कोर्ट में बहस के दौरान तीनों पक्षों के वकीलों ने एसआइटी को रिमांड देने का विरोध किया। बावजूद इसके इस केस में जज ने फैसला सुरक्षित कर दिया।

चिन्मयानंद के आपत्तिजनक वीडियो हुए थे वायरल

बता दें 10 सितंबर को चिन्मयानंद के 10 से ज्यादा आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुए थे। उसी दिन एक और ऐसा वीडियो वायरल हुआ था जिसमें दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा, उसका दोस्त संजय, विक्रम और सचिन रंगदारी को लेकर बातचीत करते सुनाई दे रहे थे। पुष्टि के लिए एसआइटी की टीम दोनों मामलों के वीडियो और उनसे जुड़े आरोपितों की आवाज का मिलान लखनऊ स्थित लैब में करना चाहती है।

ये भी पढ़े…

श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी से निष्कासित किए गए चिन्मयानंद

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा हुई गिरफ्तार, लगा उगाही का आरोप

 चिन्मयानंद प्रकरणः आपत्तिजनक वीडियो लौटाने के एवज में पहले 25 लाख फिर मांग पहुंची 5 करोड़ रुपए तक

Related posts