आज से शुरू हुई शाकंभरी नवरात्रि, जानिए इसका महत्व और पूजन-विधि

shakambari jayanti 2019,shakambari jayanti ka mahatava

चैतन्य भारत न्यूज

हिंदू धर्म के मुताबिक, 3 जनवरी 2020 से मां शाकंभरी नवरात्रि का पर्व शुरू हो रहा है। इस पर्व को 3 जनवरी से 10 जनवरी तक मनाया जाएगा। मान्यता के अनुसार पौष माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी से पूर्णिमा तक शाकंभरी नवरात्रि मानी जाती है। नवरात्रि के इन दिनों में माता अन्नपूर्णा की साधना की जाती है। आइए जानते हैं शाकंभरी नवरात्रि का महत्व और पूजा-विधि।



shakambari jayanti 2019,shakambari jayanti ka mahatava

शाकंभरी नवरात्रि का महत्व

शास्त्रों के मुताबिक, समस्त लोकों का भरण-पोषण करने वाली, अन्न एवं धन के भंडार भर देने वाली, फल, फूलों की वर्षा करने वाली, और तरह-तरह की अन्य भोजन सामग्रियां सभी देवी देवताओं, मनुष्यों, सकल जीव चराचर को अपने हाथ से बांटने वाली शक्ति माता शाकंभरी ही हैं। शाकंभरी मां दुर्गा का ही रूप है।

shakambari jayanti 2019,shakambari jayanti ka mahatava

शाकंभरी देवी की पूजा-विधि

  • अष्टमी के दिन सुबह उठकर जल्दी स्नान कर लें, फिर पूजा के स्थान पर गंगाजल डालकर उसकी शुद्धि कर लें।
  • देवी शाकंभरी को शाक-सब्जी बहुत प्रिय है इसलिए आज के दिन उनकी प्रसन्नता के लिए देवी भक्त उन्हें शाक-सब्जी का भोग अर्पित करते हैं।
  • माता को अक्षत, सिन्दूर और लाल पुष्प अर्पित करें, प्रसाद के रूप में फल और मिठाई चढ़ाएं।
  • धूप और दीपक जलाकर दुर्गा चालीसा का पाठ करें और फिर मां की आरती करें।
  • हाथ जोड़कर देवी से प्रार्थना करें, शाकंभरी देवी आपकी सारी इच्छा पूरी करेंगी।

ये भी पढ़े…

2020 में आने वाले हैं ये प्रमुख तीज त्योहार, यहां देखें पूरे साल की लिस्ट

घर में सुख-समृद्धि पाने के लिए बुधवार को भगवान गणेश की ऐसे करें पूजा

ये हैं भगवान गणेश का ऐसा अनोखा मंदिर जहां लगातार बढ़ रहा है मूर्ति का आकार

Related posts