नवरात्रि में मां के 9 स्वरूपों को चढ़ाएं ये 9 भोग, पूरी होंगी सारी मनोकामनाएं

kab hai navratri, kab se shuru ho navratri, maa durga ke roop, maa shailputri, maa shailputri mantra, maa shailputri photo, maa shailputri

चैतन्य भारत न्यूज

29 सितंबर यानी आज से नवरात्रि का पावन पर्व शुरू हो चुका हैं। इस दौरान देवी पूजन का बहुत महत्व माना जाता है। हिंदू धर्म के मुताबिक, इन नौ दिनों में व्रत रखने वाले व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होती है। अलग-अलग दिन में देवी के  अलग-अलग रूपों की पूजा होती है। साथ ही 9 दिन का व्रत रखने वाले भक्त इन नौ दिनों में मां का पसंदीदा भोग चढ़ाते हैं।



kab hai navratri, kab se shuru ho navratri, maa durga ke roop, maa shailputri, maa shailputri mantra, maa shailputri photo, maa shailputri

मान्यता है कि हर दिन माता की पसंद के मुताबिक भोग लगाया जाए तो वे प्रसन्न होती हैं और भक्तों पर कृपा बरसाती हैं। आइए जानते हैं नौ दिनों में देवी को कौन-कौन सा भोग चढ़ाया जाता है।

 नौ दिन देवी के लिए नौ प्रकार भोग निम्न अनुसार हैं।

  • पहले दिन- केले
  • दूसरे दिन- देसी घी (गाय के दूध से बने)
  • तीसरे दिन- नमकीन मक्खन
  • चौथे दिन- मिश्री
  • पांचवें दिन- खीर या दूध
  • छठवें दिन- माल पोआ
  • सातवें दिन- शहद
  • आठवें दिन- गुड़ या नारियल
  • नोवें दिन- धान का हलवा

kab hai navratri, kab se shuru ho navratri, maa durga ke roop, maa shailputri, maa shailputri mantra, maa shailputri photo, maa shailputri

बता दें नवरात्रि का अंति‍म दिन मां सिद्धदात्री को समर्पित है। नवमी तिथि‍ पर देवी मां को धान के हलवे के साथ तिल का भोग लगाना शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन तिल का भोग लगाकर ब्राह्मण को दान देने से मृत्यु भय से राहत मिलती है, साथ ही अनहोनी बुरी घटनाओं के होने में कमी आती है। इस बार मां का आगमन हाथी और गमन घोड़े पर हो रहा है। देवी का आगमन आश्विन शुक्ल प्रतिपदा तिथि 29 सितंबर यानी आज होगा और विदाई दशमी तिथि में 8 अक्टूबर को होगी।

ये भी पढ़े…

आज से शुरू हुई नवरात्रि, देवी मां को प्रसन्न करने के लिए इस विधि से करें पूजा, जानें कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त

नवरात्रि : आज महिलाएं खासतौर से करें सिद्धियों की देवी मां शैलपुत्री की पूजा, इस मंत्र के जाप से होगी पूजा सफल

शारदीय नवरात्रि 2019 : नवरात्रि में इन गलतियों को करने से नहीं मिलता व्रत का पूरा फल

Related posts