मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं कि सबकुछ करने के बाद भी मेरा नाम मी-टू में नहीं उछला : शत्रुघ्न सिन्हा

चैतन्य भारत न्यूज।
अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा अपने बिंदास अंदाज के लिए जाने जाते हैं। फिर चाहे मामला गंभीर हो, फिल्म लाइन का हो या फिर राजनीतिक। बता दें कि मुंबई में अपने दोस्त ध्रुव सोमानी की किताब ‘A Touch of Evil’ को लॉन्च करने पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा ने #MeToo अभियान पर अपनी राय देते हुए कहा है कि सबकुछ करने के बाद भी मेरा नाम मी टू में नहीं उछला इसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं। यह बात मैं मीटू अभियान को हल्का करने के उद्देश्य से नहीं ​कह रहा हूं।

सिन्हा ने अपनी छवि को बताया साफ
सिन्हा ने कहा कि अच्छे-खासे कामयाब मर्दों की असफलता के पीछे भी औरतों को देख रहा हूं। क्योंकि यह जमाना #MeToo का है। मैं ज्यादा कुछ नहीं बोलूंगा क्योंकि आज मुझे स्टेज पर आमंत्रित करते हुए मेरी जिस साफ-सुथरी छवि का जिक्र किया गया है, उसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं।

शत्रुघ्न सिन्हा के दोस्त पर लगा था यौन शोषण का आरोप
गौरतलब है कि शत्रुघ्न सिन्हा के दोस्त सुभाष घई पर पिछले दिनों #MeToo अभियान के तहत यौन शोषण का आरोप लगाया गया था। शत्रुघ्न सिन्हा ने इसी पर अपने विचार देते हुए कहा कि #MeToo अभियान में सभी शिकायतें सही नहीं हैं। इस मौके पर उनकी पत्नी पूनम भी उनके साथ मौजूद थीं।

Related posts