सरपंच भाभी से रिश्वत मांग रही थी ननद, 20 हजार रुपए लेते हुए रंगे हाथों पकड़वाया

चैतन्य भारत न्यूज

शिवपुरी/करैरा. मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में गुरुवार शाम एक महिला ने अपनी ही ननद को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़वा दिया। मामला करैरा थाना क्षेत्र के ग्राम टोड़ा का है। ननद टोड़ा ग्राम पंचायत में रोजगार सहायक सचिव है और भाभी टोड़ा ग्राम पंचायत की सरपंच है।

बता दें ग्राम पंचायत में कोई भी कार्य करवाने से पहले रोजगार सहायक से अनुमति लेनी पड़ती है। ननद चेकडेम बनवाने के लिए 60 हजार रुपए रिश्वत मांग रही थी। इसमें से पहली किश्त में 20 हजार रुपए दिए गए थे। गांव की सरपंच रचना यादव ने पहले ही इस बारे में पहले ही शिकायत कर दी थी। इसके बाद गुरुवार देर शाम लोकायुक्त टीम ने छापामार कार्रवाई की। उन्होंने रोजगार सहायक सीमा यादव को अपनी सगी भाभी रचना से चेकडेम स्वीकृत कराने के नाम पर 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा। टीम करीब 8 बजे उनके गांव पहुंची। उस समय वहां अंधेरा था। बिजली न होने के कारण लोकायुक्त की टीम को अंधेरे में ही कार्रवाई करनी पड़ी। लोकायुक्त के डीएसपी प्रद्युमन पराशर ने बताया कि, ‘ग्राम टोड़ा की सरपंच रचना यादव ने एसपी को शिकायत दर्ज करवाई थी कि ग्राम टोड़ा की रोजगार सहायक सीमा यादव सनकुआं ग्राम में चेकडेम बनाने के नाम पर 60 हजार रुपए की रिश्वत मांग रही है। शिकायत पर आवश्यक कार्रवाई के बाद टीम को टोड़ा रवाना किया गया, जिसने 20 हजार की रिश्वत लेते हुए रोजगार सहायक सीमा यादव को रंगे हाथों पकड़ लिया।’

जिस टीम ने छापामारी की उसमें डीएसपी पाराशर के अलावा टीआई पीके चतुर्वेदी, रानीलता नामदेव, प्रधान आरक्षक धनंजय पांडे, आरक्षक बलवीर, विजय, राजेंद्र, इंद्रभान, भागसिंह आदि शामिल थे। बता दें सीमा और रचना अलग-अलग रहती हैं। सीमा का फोरलेन पर घर है। वहीं रचना गांव के अंदर रहती हैं। संभवत: यह इस तरह का पहला मामला है, एक घर की महिला ने दूसरी महिला को रिश्वत लेते हुए पकड़ाया है।

Related posts