शिवराज सिंह चौहान बने भाजपा विधायक दल के नेता, करेंगे सरकार बनाने का दावा

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. तीन बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके शिवराज सिंह चौहान सोमवार शाम भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए। नेता चुने जाने के बाद उन्होंने राज्यपाल के समक्ष सबसे बड़े दल का नेता होने के नाते सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता कमल नाथ ने 20 मार्च को विधानसभा में बहुमत साबित करने के पहले ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।


भाजपा विधायक दल की बैठक से पहले गोपाल भार्गव ने नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद विधायक दल की बैठक शुरू हुई जिसमें शिवराज और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा मौजूद थे। गोपाल भार्गव ने शिवराज के नाम का प्रस्ताव रखा। शर्मा ने उसका समर्थन किया।

कैसे शुरू हुआ सियासी ड्रामा

बता दें ज्योतिरादित्य सिंधिया ने होली के दिन पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उनके साथ सिंधिया समर्थक 6 मंत्री और 13 विधायकों ने भी अपने इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष को भेज दिए। वहीं भोपाल में 2 और विधायकों ने पार्टी छोड़ दी। इसके बाद कमलनाथ सरकार संकट में आ गई। फिर 11 मार्च को ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के कुछ ही घंटों बाद पार्टी ने सिंधिया को मध्यप्रदेश से राज्यसभा उम्मीदवार घोषित कर दिया।

सभी विधायकों के इस्तीफे मंजूर

विधानसभाध्यक्ष एन पी प्रजापति ने सभी विधायकों के इस्तीफे मंजूर कर लिए हैं। ये सभी 21 विधायक भाजपा में शामिल हो गए हैं।

ये भी पढ़े…

कमलनाथ ने सौंपा राज्यपाल को इस्तीफा, बीजेपी बोली- सत्यमेव जयते

मप्र: 16 बागी विधायकों के इस्तीफे मंजूर

कमलनाथ सरकार का बड़ा फैसला, मैहर-चाचौड़ा और नागदा होंगे तीन नए जिले

Related posts