MP : शपथ ग्रहण के 5 दिन बाद भी मंत्रियों को विभाग नहीं बांट पाए हैं शिवराज, कमलनाथ बोले- अभी सौदा हो रहा है

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्यप्रदेश में शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार के पांच दिनों बाद भी नए मंत्रियों में विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दो दिन के दिल्ली दौरे के बाद अब खाली हाथ भोपाल वापस आ गए हैं। दिल्ली में आलाकमान से मुलाकात के बाद भी मंत्रियों के विभागों की गुत्थी नहीं सुलझी है।

भाजपा और सिंधिया समर्थक मंत्रियों के बीच खींचतान

मुख्यमंत्री शिवराज ने मीडिया से कहा है कि, ‘एक दो दिन और इस विषय पर काम करने के बाद विभाग घोषित किए जाएंगे।’ जानकारों का कहना है कि भाजपा के वरिष्ठ मंत्रियों और ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक मंत्रियों के बीच बड़े विभागों को लेकर खींचतान मची हुई है। इसी कारण नए मंत्रियों को विभागों का बंटवारा नहीं हो पा रहा है।

सिंधिया चाहते हैं सारे महत्वपूर्ण विभाग

भाजपा सूत्रों के मुताबिक, ज्योतिरादित्य सिंधिया सारे महत्वपूर्ण विभाग अपने समर्थकों के लिए चाहते हैं। वे राजस्व, नगरीय प्रशासन, जीएडी, जनसंपर्क, आबकारी, परिवहन, पीडब्ल्यूडी, कृषि और स्वास्थ्य, सहकारिता जैसे विभाग चाहते हैं। साथ ही अपने सभी समर्थक राज्यमंत्रियों के लिए स्वतंत्र प्रभार चाहते हैं।

कमलनाथ ने कसा तंज

इधर, विभागों के बंटवारे में देरी पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उज्जैन में तंज कसा। उन्होंने कहा कि, ‘ये सौदे की सरकार है, सौदे से मंत्रिमंडल बना है और विभागों के बंटवारे पर भी सौदा हो रहा है।’ गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में करीब 100 दिन बाद शिवराज सरकार के पहले मंत्रिमंडल का विस्तार 2 जुलाई को हुआ था। मंत्रिमंडल में 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्रियों को शपथ दिलाई गई थी।

ये भी पढ़े…

MP : सीएम शिवराज के मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, 11 सिंधिया समर्थकों को कैबिनेट में जगह

सीएम शिवराज सिंह चौहान का कथित ऑडियो लीक! कहा- कमलनाथ की सरकार गिराने का केंद्र से मिला था आदेश

मप्र: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया विभागों का बंटवारा, जानें किन मंत्रियों को मिला कौनसा विभाग

 

Related posts