युवाओं की शक्लों को नुकसान पहुंचा रही मोबाइल फोन की लत, शोध में हुआ खुलासा

mobile

चैतन्य भारत न्यूज

वॉशिंगटन. वैसे तो मोबाइल फोन से हमें कई तरह के नुकसान होते हैं, लेकिन मोबाइल की किसी चीज से अगर सबसे ज्यादा नुकसान होता है तो वो है उससे निकलने वाली रेडियेशन। हाल ही में अमेरिका में एक शोध हुआ है जिसके मुताबिक, मोबाइल फोन दूसरे तरीके से भी आपके लिए घातक हो सकता है। शोध में यह भी सामने आया है कि दुनियाभर में युवाओं को लगने वाली चोट में मोबाइल फोन की हिस्सेदारी काफी तेजी से बढ़ रही है।


मोबाइल से लगने वाली चोट का शिकार हो रहे युवा

डेलीमेल अखबार के मुताबिक, साल 2007 में लॉन्च हुए आईफोन के बाद से अब तक मोबाइल की वजह से लगने वाली चोटें तीन गुना तक ज्यादा बढ़ चुकी हैं। साल 1998 से 2016 तक के आंकड़ों को ही देखे तो इस बीच कुल 76000 अमेरिकियों को मोबाइल की वजह से लगी चोट का इलाज कराने के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें से अधिकतर मामले चलते वक्त या गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वालों के थे। शोध में यह भी पता चला कि साल 2007 तक 10 लाख लोगों में से सिर्फ एक ही व्यक्ति मोबाइल की वजह से लगने वाली चोट से पीड़ित था। लेकिन साल 2016 में यह आंकड़ा बढ़कर 29 हो गया।

मोबाइल से सिर और गर्दन में चोट

शोधकर्ताओं के मुताबिक, यह आंकड़ा लगातार बढ़ने की संभावना है क्योंकि मोबाइल फोन की लत लोगों में हर दिन बढ़ती ही जा रही है। शोध के मुताबिक, मोबाइल फोन के कारण युवाओं को अधिकतर गर्दन या सिर पर चोट लगतीं हैं। जिन भी 76000 लोगों पर यह शोध किया गया उनमें से 40 फीसदी की उम्र 13 साल से 29 साल के बीच थी।

पैदल चलते समय भी न करें मोबाइल का इस्तेमाल

विशेषज्ञ हमेशा चलने या ड्राइविंग करते समय मोबाइल का इस्तेमाल न करने की सलाह देते हैं। उनका कहना है कि, यदि आप किसी से चैटिंग भी कर रहे हैं तो भी पैदल चलते वक्त नहीं करे। इसके जरिए आप मोबाइल फोन की वजह से लगने वाली चोटों से आसानी से बच सकते हैं।

ये भी पढ़े…

आपके नजदीकी कौन से ATM में है पैसा? इस मोबाइल ऐप के जरिए 2 मिनट में लगा सकते हैं पता

मोबाइल-लैपटॉप पर बढ़ता जा रहा बच्चों का स्क्रीन टाइम, WHO ने जताई चिंता

मोबाइल और लैपटॉप की नीली रोशनी आपके दिमाग को कर रही बूढ़ा, कोशिकाओं को हो रहा नुकसान

मोबाइल फोन की लत छुड़ाने के लिए GOOGLE ने लॉन्च किए ये 5 ऐप्स

Related posts