स्वतंत्रता दिवस के दिन लाल किले पर खालिस्तान का झंडा फहराने की साजिश, सुरक्षा बढ़ी

चैतन्य भारत न्यूज

स्वतंत्रता दिवस को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं। राजधानी दिल्ली की भीड़-भाड़ वाली जगहों पर खासतौर से सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। इसी बीच यह जानकारी सामने आई है कि अमेरिका में रहने वाले सिख फॉर जस्टिस के आकाओं में से एक गुरुवतपंत सिंह पन्नू ने 14, 15 और 16 अगस्त को लाल किले पर खालिस्तान का झंडा फहराने वाले सिख को सवा लाख डालर देने की घोषणा की है।

एसएफजे के अटॉर्नी और जनरल काउंसल गुरपतवंत सिंह ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाला है, जिसमें यह कहा गया है कि, जो भी व्यक्ति स्वतंत्रता दिवस के दिन लाल किले पर खालिस्तान का झंडा बुलंद करेगा उसे 1,25,000 अमेरिकी डॉलर का इनाम दिया जाएगा। बता दें हाल ही में गुरुवतपंत सिंह पन्नू को भारत सरकार से डिजिनेटेड टेरररिस्ट करार दिया गया। इसके बाद पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ मिलकर गुरुवतपंत सिंह पन्नू रेफरेंडम 2020 की मुहिम भी चला रहा है।

गुरपतवंत सिंह द्वारा यह वीडियो सामने आने के बाद जांच सभी सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर हैं। दिल्ली के मुख्य बाजारों में पुलिस गश्त और संदिग्धों पर निगरानी बढ़ा दी गई है। 45,000 जवानों को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। लाल किले के चारों तरफ पांच किलोमीटर की दूरी में हर एक ऊंची इमारत पर 2,000 स्नाइपर्स तैनात होंगे। सुरक्षा एजेंसियों ने एसएफजे की इस घोषणा को लेकर कहा है कि ये केवल लोगों के बीच डर पैदा करने के लिए किया गया प्रयास है। गौरतलब है कि भारतीय गृह मंत्रालय ने इस संगठन पर वर्ष 2019 में बैन लगा दिया था।

 

Related posts