12 साल की लड़की से शादी करने पंहुचा 50 साल का दूल्हा, गांववालों डंडे बरसाकर की खातिरदारी

चैतन्य भारत न्यूज

सीतामढ़ी. सरकार बाल विवाह को रोकने के लिए पूरा जोर लगा रही है। नुक्कड़ नाटक, पोस्टर व विभिन्न माध्यमों से लोगों को जागरूक कर रही है। बावजूद बाल विवाह जैसी कुप्रथा थमने का नाम नहीं ले रही। हाल ही में बिहार के सीतामढ़ी से बेमेल शादी करवाने का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां बारह साल की लड़की से शादी करने पचास साल का दूल्हा आया। जब ग्रामीणों को इस बात की भनक लगी तो उन्होंने लाठियों से दूल्हे की जमकर खातिरदारी कर डाली और फिर उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, दलालों ने पैसे की खातिर इस नाबालिग की शादी अधेड़ से तय करा दी थी। निर्धारित तिथि पर शादी करने पहुंचे वृद्ध दूल्हा सात फेरे लेने से पहले ग्रामीणों की पकड़ में आ गया। जानकारी के मुताबिक, नानपुर प्रखंड के बहेड़ा गांव में एक नाबालिग लड़की की शादी गांव की ही रजिया खातुन व कृष्णनंदन ने राजस्थान के अजमेर इलाके के रहने वाले गोपाल राम नामक व्यक्ति से तय करा दी। निर्धारित तिथि के तहत शादी के लिए राजस्थान से सज-धजकर दूल्हा आ धमका। शहर स्थित कृष्णा कॉम्प्लेक्स में वह आकर ठहरा। लड़की को उसके परिवार वाले शादी के जोड़े में सजाकर ले गए। इसी बीच लड़की के ग्रामीणों को इस बात की भनक लग गई।

इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने विवाह स्थल कृष्णा कॉम्प्लेक्स पर धावा बोल दिया। उम्रराज दूल्हे को देख लोग आग-बबूला हो गए। दूल्हा और उसके साथ अन्य व्यक्ति को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। लिहाजा सात फेरे से पहले दूल्हा व उसके साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। बताया गया कि उक्त दोनों दलालों ने लड़का पक्ष से एक लाख रुपये के लोभ में यह सौदा किया था। घटना के बाद दोनों फरार हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है। थानाध्यक्ष राम एकबाल प्रसाद का कहना है कि जांच चल रही है।

Related posts