स्मृति ईरानी ने कबूला- नहीं हैं ग्रेजुएट, कांग्रेस मंत्री ने गाना गाकर कसा तंज

Smriti Irani ,Smriti Irani not graduate

चैतन्य भारत न्यूज

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी दूसरी बार उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को टक्कर देने के लिए तैयार हैं। स्मृति ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए गुरुवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। स्मृति ने इस नामांकन पत्र के जरिए अपने एक बड़े राज से पर्दा उठाया है। स्मृति ने उस सच्चाई को उजागर कर दिया है जिससे वह काफी समय से इंकार करती चली आ रही हैं। यह मामला उनकी डिग्री से संबंधित है।

ग्रेजुएट नहीं है स्मृति ईरानी

गुरुवार को नामांकन दाखिल करने के दौरान स्मृति ने जो हलफनामा जमा किया है उसमे उन्होंने यह कबूल किया कि वे ‘ग्रेजुएट’ नहीं हैं। हलफनामे में स्मृति ने शैक्षणिक योग्यता के कॉलम में लिखा है- ‘दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (पत्राचार) से ‘बैचलर ऑफ कॉमर्स पार्ट-1।’ स्मृति ने इस कोर्स का वर्ष 1994 लिखा है। स्मृति ने कोष्टक में लिखा है ‘तीन साल की डिग्री कोर्स अपूर्ण।’

पहले भी हुई है स्मृति की डिग्री पर बहस

हलफनामे के अनुसार स्मृति ने 1991 में हाईस्कूल की परीक्षा पास की और 1993 में इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की। इससे पहले साल 2014 में स्मृति की डिग्री को लेकर तब बहस हुई थी जब उन्होंने अमेठी सीट से पहली बार चुनाव लड़ने के दौरान हलफनामे में लिखा था कि, 1994 में उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (पत्राचार) से बैचलर ऑफ कॉमर्स पार्ट-1 किया।

कांग्रेस नेता का स्मृति पर तंज

स्मृति की डिग्री का मुद्दा प्रकाश में आने के बाद कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने उन पर निशाना साधा है। प्रियंका ने बाकायदा गाना गाकर स्मृति पर तंज कसा है। प्रियंका ने स्मृति के मशहूर टीवी सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ की थीम लाइन से जोड़ते हुए कहा, ‘क्वालिफिकेशन के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं, एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते एफिडेविट नए हैं।’ प्रियंका का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

ये भी पढ़े…

स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बताया लापता सांसद, कहा- 15 सालों से अमेठी को झेलना पड़ा

नामांकन पर्चा भरने से पहले स्मृति ने कहा- राहुल डरे हुए इसलिए गए वायनाड

Related posts