भोपाल: कोरोना संक्रमित मृतक के बेटे ने कहा- मैंने अंतिम संस्कार को मना नहीं किया, तहसीलदार ने धमकाकर लिखवाया था

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. बुधवार को एक ऐसा मामला सामने आया था जिसमें कहा जा रहा था कि एक बेटे ने अपने कोरोना वायरस से संक्रमित मृत पिता का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया है, जिसके बाद तहसीलदार को उस शख्स का अंतिम संस्कार करना पड़ा। मामला सामने आने के बाद ज्यादातर लोगों ने मृतक के बेटे की आलोचना की थी। जिसके बाद अब बेटे का बयान सामने आया है।

शुजालपुर निवासी मृतक के बेटे ने साेशल मीडिया पर एक वीडियाे जारी किया है। वीडियो में उसने कहा है कि, ‘मैंने अंतिम संस्कार करने से मना नहीं किया था। तहसीलदार ने धमकाकर ऐसा करने पर मजबूर किया था।’ उसने कहा कि, ‘मैं पापा के शव को घर ले जाना चाहता था, लेकिन जिम्मेदारों ने इसकी अनुमति नहीं दी। मैंने अंतिम संस्कार करने से इनकार नहीं किया था। तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल ने कहा था कि मुझे मुखाग्नि देने दीजिए और तुम 50 मीटर दूर से सिर्फ अंतिम संस्कार देख सकते हो।’

बेटे ने तहसीलदार पर आरोप लगाया है कि, ‘उन्हाेंने शर्त रखी थी कि अगर मैं अंतिम संस्कार देखना चाहता हूं ताे उन्हें लिखकर दूं कि मैं अंतिम संस्कार नहीं करना चाहता हूं। इससे दबाव में आकर मैंने यह लिखकर दिया था कि मैं बाॅडी के पास नहीं जाऊंगा। उन्हाेंने खुद मुझे 50 मीटर दूर रहने काे कहा था।’ हालांकि तहसीलदार ऩे युवक द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को खारिज कर दिया है।

प्रशासन द्वारा बताया गया कि एक मरीज की माैत के बाद उसके बेटे ने अंतिम संस्कार करने से इनकार करने पर, तहसीलदार ने अंतिम संस्कार किया। प्रशासन का कहना है कि, उनके पास इनकार करते हुए बेटे का वीडियो भी है। तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल ने कहा कि, ‘बेटे की सहमति से ही अंतिम संस्कार किया गया। पहले भी परिजन ने ही कोरोना से मृत लोगों के अंतिम संस्कार किए हैं।’

क्या है मामला

बता दें भोपाल में कोरोना वायरस से संक्रमित एक शख्स की मौत हो गई। कहा जा रहा था कि मृतक के बेटे और परिवार ने शव को लेने से इनकार कर दिया था। प्रशासन द्वारा काफी समझाने के बाद भी बेटा पिता को मुखाग्नि देने से मना कर दिया। फिर आखिरकार बैरागढ़ तहसीलदार गुलाबसिंह ने ही अंतिम संस्कार किया और बेटा 50 मीटर दूर से ही पिता की चिता को जलते देखता रहा।

ये भी पढ़े…

दिल्ली से शव नहीं आ सका तो डेढ़ साल के बेटे ने पिता के पुतले का किया अंतिम संस्कार, बेबसी की ये कहानी आपको भी मायूस कर देगी

अंतिम संस्कार के लिए दीवार पर चिपकाए 500 के नोट, दो बच्चों का गला घोंटकर 8वीं मंजिल से कूदे दंपती और महिला

Related posts