जन्मदिन विशेष: गरीबों के मसीहा सोनू सूद ने इस वजह से 10 साल से नहीं मनाया अपना जन्मदिन

चैतन्य भारत न्यूज

बॉलीवुड, कॉलीवुड और टॉलीवुड एक्टर और अब गरीबों के मसीहा के नाम से मशहूर सोनू सूद का आज जन्मदिन है। सोनू ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर हर तरह का किरदार निभाया है और यही वजह है कि उनके पास प्रोजेक्ट्स की कमी नहीं है। चाहे विलेन का किरदार हो या फिर कॉमेडी या रोमांटिक सोनू ने सभी किरदारों को बखूबी निभाया है। जन्मदिन के इस खास मौके पर आइए जानते हैं सोनू के बारे में कुछ खास बातें।

सोनू सूद का जन्म 30 जुलाई 1973 में पंजाब के मोंगा जिले में हुआ था। जन्म के बाद उनकी पढ़ाई लिखाई नागपुर में हुई थी। सोनू ने इंजीनियरिंग भी की है। ग्रेजुएशन के बाद सोनू ने मॉडलिंग की शुरुआत की और मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में भी प्रतियोगी रहे। सोनू ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरूआत फिल्म ‘शहीदे-ए-आजम’ से की थी जिसमें उन्होंने भगत सिंह का किरदार निभाया था। इसके बाद उन्होंने कई छोटी बड़ी फिल्मों और अन्य भाषाओं की फिल्मों में भी काम किया जिसमें तमिल, तेलगु भी शामिल है।

सोनू सूद को साल 2010 में रिलीज हुई फिल्म ‘दबंग’ में निगेटिव किरदार के लिए उस साल का आईफा अवॉर्ड से भी नवाजा गया। इस फिल्म में सोनू ने सलमान खान के अपोजिट विलेन का किरदार निभाया था। सोनू ने फिल्म ‘शूटआउट एट वडाला’ और ‘हैप्पी न्यू ईयर’ में अहम किरदार निभाए।

सोनू सूद पर्दे पर भले विलेन हैं लेकिन असल जिंदगी में बहुत बड़े हीरो साबित हुए हैं। देशभर में कोरोना संकट के बीच लागू हुए लॉकडाउन में सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने का जिम्मा उठाया था। उन्होंने करीब 12 हजार से ज्यादा मजदूरों को घर पहुंचाया था। इसके बाद कुछ लोगों ने उन्हें महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने की मांग की थी। इतना ही नहीं बल्कि कुछ लोगों ने तो सोनू को पद्म भूषण तक देने की मांग की थी।

सोनू अपना जन्मदिन सेलिब्रेट नहीं करते हैं। इसके पीछे इमोशनल वजह है, जो खुद सोनू ने एक इंटरव्यू के दौरान बताई थी। सोनू ने कहा था कि जब से उनकी मां का निधन हुआ है, उन्होंने तभी से अपना बर्थडे सेलिब्रेट करना छोड़ दिया था। यानी करीब 10 साल से सोनू ने अपना जन्मदिन सेलिब्रेट नहीं किया। वहीं उनकी पर्सनल लाइफ की बात करें तो सोनू सूद की पत्नी का नाम सोनाली है। उनकी शादी को 22 साल होने जा रहे हैं, पर सोनाली लाइमलाइट से दूर रहना पसंद करती हैं। उनके दो बेटे भी हैं।

ये भी पढ़े…

रियल हीरो सोनू सूद ने अब तक 12 हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को पहुंचाया घर, किसी ने की मुख्यमंत्री बनाने की तो किसी ने पद्मभूषण देने की मांग

Related posts