पुण्यतिथि विशेष : ऐसा रहा श्रीअम्मा यंगेर का श्रीदेवी बनने तक का सफर, अचानक हुई मौत ने हर किसी को कर दिया था हैरान

चैतन्य भारत न्यूज

आज से 3 साल पहले हिंदी सिनेमा की दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी की अचानक हुई मौत से उनके प्रशंसकों को झटका लगा था। 24 फरवरी 2018 को श्रीदेवी की दुबई में मौत हो गई थी। श्रीदेवी के जाने का शोक कपूर परिवार के लिए किसी बड़े सदमे से कम नहीं था। श्रीदेवी की निजी जिंदगी कई तमाम किस्सें से भरी है। उनका प्यार हो या फिर उनकी मौत।

दुबई में हुई थी मौत

बोनी कपूर के भांजे मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने पहुंचीं श्रीदेवी के बारे में किसी ने नहीं सोचा था कि घर से कोसों दूर वह अंतिम सांसें लेंगी। मौत भी ऐसी जब कोई पास नहीं व कोई साथ नहीं। कहा जा रहा था कि, श्री देवी की मौत हार्ट अटैक से हुई लेकिन दुबई में जब फॉरेंसिक रिपोर्ट सामने आई तो साफ हुआ कि उन्हें किसी तरह की दिल की बीमारी नहीं थी और न ही उस दिन कुछ उन्हें हार्ट अटैक जैसा हुआ था।

sridevi death, sridevi mout

श्रीदेवी की मौत के बाद ऐसी कई तरह की बातें भी हुई जिन्हें सुन उनके परिवार को बुरा लगा था। यह आज भी साफ नहीं है कि श्रीदेवी की मौत कार्डियक अरेस्ट की वजह से हुई या फिर हैवी डोज लेने की वजह से हुई। 24 फरवरी 2018 की रात श्रीदेवी को दुबई में होटल के कमरे के बाथटब में पति बोनी कपूर ने बेहोशी की हालत में पाया था। उनके मृत्यु प्रमाण पत्र में भी यह कहा गया है कि श्रीदेवी मौत ‘दुर्घटनावश डूबने’ के कारण हुई।

श्रीदेवी का जन्म 13 अगस्त 1963 को शिवाकाशी, तमिलनाडु में हुआ था। जन्म के समय उनका नाम श्रीअम्मा यंगेर अय्यपन था। श्रीदेवी के पिता एक वकील थे और मां गृहिणी थी। श्रीदेवी ने बतौर बाल कलाकार काम शुरू किया था।

sridevi

उन्होंने 1967 में थिरुमुघम की फिल्म ‘थुनाईवन’ से एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी, जब वे केवल 4 वर्ष की थीं। बॉलीवुड में उन्होंने 1975 में आई हिट फिल्म ‘जूली’ में बाल कलाकार के रूप में शुरुआत की थी।

1979 में हिन्दी फिल्मों में मुख्य अभिनेत्री के रूप में वे फिल्म ‘सोलवां सावन’ में आईं लेकिन उन्हें पहचान 1983 में आई फिल्म ‘हिम्मतवाला’ से मिली। श्रीदेवी ने अपने करियर में हिन्दी, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ फिल्मों में काम किया। 13 वर्षीय श्रीदेवी ने तमिल फिल्म ‘मोन्दरु मूडीचु’ में रजनीकांत की सौतेली मां का अभिनय किया था। श्रीदेवी ने जब बॉलीवुड में शुरुआत की, तब वे हिन्दी में बात करने में सहज नहीं थीं इसलिए उनकी आवाज ज्यादातर नाज द्वारा डब की गई थी। इसके अलावा फिल्म ‘आखिरी रास्ता’ को रेखा ने डब किया था। श्रीदेवी ने पहली बार फिल्म ‘चांदनी’ में अपने संवाद के लिए डब किया।

sridevi death,sridevi death latest news, sridevi,sridevi murder,sridevi death in dubai

1996 में श्रीदेवी ने अनिल कपूर और संजय कपूर के बड़े भाई फिल्म निर्माता बोनी कपूर से शादी कर ली। बता दें श्रीदेवी का फरवरी 2018 में दुबई के एक होटल में निधन हो गया था। वह अपने भांजे की शादी में शरीक होने के लिए दुबई गईं थीं। उनकी मौत की खबर सामने आने पर फैंस के साथ-साथ पूरी बॉलीवुड इंडस्ट्री सदमे में थी। श्रीदेवी ने अपनी बेटी को भी सुपरस्टार बनाने का सपना देखा था, लेकिन जाह्नवी की डेब्यू फिल्म से पहले ही उनका निधन हो गया। उनके अभिनय का जादू लोगों के सर चढ़कर बोलता था। श्रीदेवी एक ऐसी अभिनेत्री थी जिन्हें हर कोई पसंद करता था। इस मशहूर अदाकारा को पद्मश्री और राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

Related posts