सूरत अग्निकांडः अब तक 20 छात्रों की मौत, अवैध रूप से चल रहा था कोचिंग सेंटर, संचालक गिरफ्तार

surat fire,surat,municipal corporation,surat,fire news

चैतन्य भारत न्यूज

सूरत के सरथाना में शुक्रवार को तक्षशिला आर्केड बिल्डिंग में आग लग गई जिसमें करीब 20 छात्रों की जान चली गई। ये घटना बिल्डिंग के उस फ्लोर पर हुई जो गैरकानूनी तरीके से बनाई गई थी। इस फ्लोर पर कोचिंग सेंटर चलता था। फ्लोर की छत फाइबर से बनी थी। इस वजह से आग पर काबू पाना मुश्किल था। सरथाना पुलिस स्टेशन में इस मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। मामले की जांच सूरत क्राइम ब्रांच के एसीपी को सौंपी गई है।

कोचिंग क्लास पर प्रतिबंध लगा

घटना के बाद सूरत प्रशासन ने इस तरह की सभी कोचिंग क्लास पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब से फायर डिपार्टमेंट की एनओसी मिलने के बाद ही कोचिंग क्लास चल सकेगी। घटना के बाद कोचिंग सेंटर के संचालक भार्गव भूटानी समेत इमारत के दो बिल्डरों हर्षल वेकारिया व जिग्नेगश के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है साथ ही उन्हें हिरासत में भी लिया है।


छात्रों ने बिल्डिंग से लगाई छलांग

सूरत के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में एक कोचिंग सेंटर चलता है। शुक्रवार को इस कोचिंग सेंटर में आम दिनों की तरह बच्चे पढ़ने आए थे। लेकिन शायद उन्हें भनक भी नहीं होगी कि आग की लपटों में उनके साथ उनके सपने भी खत्म हो जाएंगे। यहां शाम करीब 5 बजे शार्ट सर्किट के कारण आग लग गई। आग लगने के बाद पूरी इमारत में अफरा-तरफी मच गई। बच्चे भी घबराकर अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। ऐसे में उन्होंने बिल्डिंग के चौथे माले से छलांग लगा दी। इनमें से कुछ की इमारत से कूदने की वजह से तो कुछ की दम घुटने से मौत हुई। आग इतनी भयानक थी कि उसे बुझाने में 19 दमकल गाड़ियों को लगाना पड़ा।

सीएम ने किया 4 लाख मुआवजे का ऐलान

इस घटना के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने जांच के आदेश दिए। देर शाम उन्होंने अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात भी की। साथ ही मुख्यमंत्री ने मरने वालों के परिजनों को 4 लाख रुपए मुआवजा देने का भी ऐलान किया है। पीएम मोदी ने भी घटना पर दुख जताया और कहा कि, ‘सूरत में भीषण आग की घटना से बेहद दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं मरने वालों के परिवारों के साथ हैं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। मैंने गुजरात सरकार को स्थानीय प्रशासन से प्रभावितों को सभी तरह की सहायता मुहैया कराने को कहा है।’

ये भी पढ़े…

सूरत की इमारत में लगी भीषण आग, जान बचाने के लिए छत से कूदे बच्चे, 15 की मौत

Related posts