लाखों रुपए में किराए की कोख का सौदा करने वाला गिरोह पकड़ा गया, महिला ने खोली सारी पोल

surrogecy

चैतन्य भारत न्यूज

उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो अपनी कोख किराए पर देकर बच्चे पैदा करके नवजातों को विदेश में बेच देता है। इस गिरोह को तब पकड़ा गया जब हरियाणा के फरीदाबाद में जन्में तीन बच्चों को महिलाएं नेपाल लेकर जा रही थी और तभी पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया।

जानकारी के मुताबिक, बिहार की महिला ने साढ़े तीन लाख रुपए लेकर बच्चे को जन्म दिया था। आगरा पुलिस को इस बात की सूचना मिली कि फरीदाबाद का एक गैंग कार से तीन मासूम बच्चों को लेकर गोरखपुर जा रहा है। इसके बाद पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए लखनऊ एक्सप्रेस वे के फतेहाबाद टोल पर बैरियर लगा दिए। जब गैंग की दोनों गाड़ियां आई तो पुलिस ने रोका और दोनों गाड़ी के चालक समेत दो महिलाओं और तीन मासूम बच्चों को पकड़ लिया।

जब उन्हें पूछताछ के लिए थाने लाया गया तो पहले तो महिलाओं ने पूछताछ के दौरान पुलिस को यह कहकर गुमराह किया कि वह बच्चे की सगी मां है। काम से गोरखपुर जा रही थी। लेकिन जब उनसे सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने सारी पोल खोल दी। उन्होंने बताया कि, वह एक गैंग की सदस्य है। बच्चे उसके नहीं है। बिहार की एक महिला ने साढ़े तीन लाख रुपए में किराए पर अपनी कोख दी थी। महिला ने रुपए लेने के बाद फरीदाबाद में बच्चों को उनके सुपुर्द कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, नेपाल की एक दंपत्ति ने इस गैंग से बच्चों को जन्म देने के लिए संपर्क किया था। इसके एवज में उन्होंने मोटी रकम दी थी। जन्म के बाद खरीदार को बच्चों को उनके माता-पिता के सुपुर्द करना था। अनलॉक-1 के दौरान एक गाड़ी में चालक के अलावा सिर्फ दो लोगों के बैठने की अनुमति है, इसलिए गैंग को दो गाड़ियां करनी पड़ी थी। वे लोग गोरखपुर होते हुए नेपाल जा रहे थे। महिलाओं को सिर्फ बच्चों को साथ ले जाने का रुपए मिलते थे, इसलिए वे तैयार हो गई।

लॉकडाउन के कारण फरीदाबाद में कराया प्रसव

एसपी देहात पूर्वी प्रमोद कुमार ने बताया कि गैंग पिछले एक साल से इस धंधे में लिप्त है। गैंग के सदस्य किराए की कोख के लिए जिनसे रुपये लेते हैं, डिलीवरी भी उसके बताए ठिकाने पर कराते हैं। इन महिलाओं की डिलीवरी नेपाल में होनी थी। कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन था। इस कारण महिलाओं को नेपाल नहीं ले जाया जा सका। मजबूरन उनकी डिलीवरी फरीदाबाद में करानी पड़ी।

गैंग से जुड़े अन्य लोगों की तलाश जारी

एसपी देहात पूर्वी प्रमोद कुमार ने बताया कि किराए की कोख के लिए बकायदा कानून है। बिना एग्रीमेंट के कोई भी ऐसा नहीं कर सकता। विदेशी दंपति के लिए किराए की कोख देना गैर कानूनी है। इसलिए इस मामले में मुकदमा लिखकर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। फिलहाल पुलिस इस गैंग से जुड़े अन्य लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

ये भी पढ़े…

मोदी सरकार ने सरोगेसी बिल संशोधन को इन शर्तों के साथ दी मंजूरी, अब विधवा-तलाकशुदा भी बन सकेंगी सरोगेट मदर

राज्यसभा में पेश हुआ सरोगेसी बिल, खूब हो रही इसकी आलोचना, जानें बिल में क्या-क्या प्रावधान हैं शामिल

Related posts