मनचाही सफलता के लिए रविवार को इस विधि से करें सूर्य देवता की पूजा

surya devta,surya devta ki puja ka mahatv,surya devta ki puja vidhi,ravivar ka din,avivar vrat ka mahatav,kaise kare surya devta ka puja

चैतन्य भारत न्यूज

रविवार का दिन भगवान सूर्य को अर्पित है। सूर्य यश और वैभव के देवता माने जाते हैं। कहा जाता है कि जो भी भक्त रविवार के दिन सूर्य देवता को जल चढाते हैं उन्हें धन, वैभव और यश में वृद्धि होती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं सूर्य देव की पूजा का महत्व और रविवार व्रत की पूजा विधि।

surya devta,surya devta ki puja ka mahatv,surya devta ki puja vidhi,ravivar ka din,avivar vrat ka mahatav,kaise kare surya devta ka puja

सूर्य देव की पूजा का महत्व

रविवार के दिन सूर्य का पूजन, जल से अर्घ्य तथा सूर्य मंत्र का जाप करने का विशेष महत्व हैं। सूर्य देवता को नव ग्रहों का राजा माना जाता है और सूर्य की उपासना करने से व्यक्ति के सभी ग्रह शांत हो जाते हैं। सूर्य देव का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है, क्योंकि यह व्रत सुख और शांति देता है। पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में भी भगवान सूर्य के अर्घ्यदान का विशेष महत्व बताया गया है।

surya devta,surya devta ki puja ka mahatv,surya devta ki puja vidhi,ravivar ka din,avivar vrat ka mahatav,kaise kare surya devta ka puja

सूर्य देवता की पूजा-विधि

  • प्रतिदिन सूर्योदय से पहले स्नान कर लेना चाहिए।
  • नहाने के बाद सूर्यनारायण को तीन बार अर्घ्य देकर प्रणाम करें।
  • सुबह तांबे के लोटे में जल लेकर उसमें लाल फूल, चावल डालकर सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए।
  • इस दिन सूर्य मंत्रों का 108 बार जाप करने से सभी मनोकामना की पूर्ति होती है।
  • शाम को सूर्यास्त से पहले गुड़ का हलवा बनाकर सूर्य देवता को चढ़ाएं और इसे प्रसाद के रूप में बांटें।
  • सूर्य देव की पूजा करने के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराना और दान देना शुभ माना गया है।

ये भी पढ़े…

रविवार को करें ये सरल उपाय, जीवन में सदा रहेगी खुशहाली

सृष्टि में विद्रोही देवता के रूप में जाने जाते हैं शनिदेव

Related posts