निलंबित SDM पिंकी मीणा की शादी में ऐन वक्त पर आया ट्विस्ट, देर रात तक नहीं पहुंची बारात, जानिए फिर क्या हुआ

चैतन्य भारत न्यूज

घूसखोरी की आरोपी निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा ने बसंत पंचमी के मौके पर जज नरेंद्र कुमार से शादी रचा ली। हालांकि, उनकी शादी में ऐन वक्त पर बड़ा ट्विस्ट आ गया। जयपुर के सीकर रोड स्थित एक रिसॉर्ट को दुल्हन की तरह सजाया, मेहमान भी पहुंच गए लेकिन बारात नहीं पहुंचीं। देर रात तक दूल्हे का इंतजार होता रहा और शादी का मंडप सूना ही रहा। अंत में यह शादी समारोह पिंकी मीणा के घर पर ही संपन्न हुआ।

मेहमान कर रहे थे बारात का इंतजार

पहले मैरिज गार्डन में फेरे व अन्य रस्म होनी थी। पिंकी की शादी के लिए मैरिज गार्डन में भव्य तैयारी की गई थी। सभी मेहमान आ चुके थे और बारात आने का इंतजार कर रहे थे। लेकिन देर शाम को शादी के कार्यक्रम में बदलाव किया गया। फिर यह बात सामने आई कि पिंकी मीणा की शादी उनके गांव चिथवाड़ी स्थित घर में ही होगी। कुछ देर में दूल्हा नरेंद्र भी दौसा के बसवा से चिथवाड़ी गांव में पहुंच गया।

गांव में हुई सामान्य शादी

गांव में जहां शादी की गई वहां पिंकी मीणा के घर पर डेकोरेशन भी नहीं था, सामान्य दिनों की तरह लाइट की व्यवस्था थी। ना गाना था ना बजाना था। बस पिंकी के चुनिंदा परिजन और दुल्हे नरेंद्र के चुनिंदा दोस्त और परिजन ही वहां पहुंचे। पिंकी मीणा के गांव वाले घर मे ही पाणीग्रहण संस्कार हुआ, सात फेरे भी लिए गए और शादी की औपचारिकता भी हुई। इसके बाद पिंकी मीणा की ससुराल के लिए विदाई हुई।

21 फरवरी को करना होगा सरेंडर

शादी के 5 दिन बाद यानी 21 फरवरी को एक बार फिर से वह जेल की सलाखों के पीछे चली जाएंगी। हालांकि 22 फरवरी को उनकी जमानत पर फिर सुनवाई है। ऐसे में इस बात पर नजर होगी कि कोर्ट की ओर से उन्हें राहत मिलती है या नहीं। बता दें पिंकी को 13 जनवरी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को तैयार करने में जुटे एक कॉन्ट्रैक्टर से 10 लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। शिकायत मिलने के बाद राजस्थान के एंटी-करप्शन ब्यूरो ने उनके खिलाफ यह एक्शन लिया था। इसके बाद से ही यह मामला चर्चा में है।

Related posts