डोनाल्ड ट्रंप के ताजमहल दौरे को लेकर खास तैयारियां, 389 साल में पहली बार हो रही ‘शाहजहां-मुमताज’ की कब्र की मड पैक थेरेपी

चैतन्य भारत न्यूज

आगरा. मोहब्बत की अमर निशानी कहे जाने वाले स्मारक ताजमहल के दीदार के लिए लोग दुनिया के कोने-कोने से आते हैं। अब दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी ताज महल की खूबसूरती देखने आने को तैयार हैं। उनके आने से पहले शाहजहां और मुमताज के कब्र के रेप्लिका (प्रतिरूप) की मड पैक थेरेपी की जा रही है।

tajmahal,

बता दें 24 फरवरी को ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया के साथ दो दिवसीय भारत दौरे पर आ रहे हैं। 24 जनवरी को वह ताजनगरी आगरा जाएंगे। ट्रंप के स्वागत के लिए आगरा शहर में जोरों-शोरों से तैयारियां चल रही हैं। बता दें शाहजहां और मुमताज को कब्र में दफन हुए करीब 389 साल हो चुके हैं। इतने सालों में ऐसा पहली बार हो रहा है जब कब्र के रेप्लिका (प्रतिरूप) की मड पैक थेरेपी की जा रही है, जिससे कि वह साफ-सुथरा दिखने लगे। कब्र पर मड पैक ट्रीटमेंट की शुरुआत पिछले हफ्ते ही शुरू हो गई थी और यह अब अंतिम दौर में है।

बता दें मुमताज महल को 1631 और शाहजहां को 1666 में ताजमहल के अंदर दफनाया गया था। शाहजहां और मुमताज की असली कब्र उनकी संगमरमर की प्रतिकृति के मुकाबले बेहद सादगी से बनाई गई थी। इसे तहखाने के अंदर एक चैंबर में रखा गया है। उनकी असली कब्र को आम लोगों के देखने के लिए साल में केवल तीन बार ही खोला जाता है। जो लोग शाहजहां के सालाना उर्स में आते हैं केवल वहीं इसे देख पाते हैं। कब्र 22 सीढ़ियां उतरने के बाद बेहद संकरी जगह में है। अब तक किसी भी विदेशी मेहमान या राष्ट्राध्यक्ष ने असली कब्र को देखने की इच्छा जाहिर नहीं की है।

ये भी पढ़े… 

डोनाल्ड ट्रंप से पहले ये 6 अमरीकी राष्ट्रपति आ चुके हैं भारत के दौरे पर

भारत आने से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- भारत ने हमारे साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया, अभी नहीं होगी कोई बड़ी डील

ट्रंप के भारत दौरे को लेकर कड़ी सुरक्षा, 7 विमान, 10000 से ज्यादा जवान रहेंगे तैनात

Related posts