सैफ अली खान की सीरीज को लेकर हर जगह हो रहा ‘तांडव’, हिंदू धर्म के अपमान का आरोप, डायरेक्टर समेत पांच लोगों पर केस दर्ज

चैतन्य भारत न्यूज

शुक्रवार को सैफ अली खान-डिंपल कपाड़िया की वेब सीरीज ‘तांडव’ रिलीज हुई। इसके बाद से ही इस फिल्म को लेकर बवाल मचा हुआ है। आरोप है कि निर्देशक अली अब्बास जफर, सैफ अली खान, लेखक गौरव सोलंकी ने इस वेब सीरीज के जरिए भगवान राम और शिव का अपमान किया है। लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में अमेजन प्राइम इंडिया की ओरिजिनल कंटेंट हेड अरुणा पुरोहित, सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास जफर, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्ण मिश्रा और राइटर गौरव सोलंकी के खिलाफ रविवार रात FIR दर्ज की गई।

हजरतगंज पुलिस स्टेशन की चार सदस्यीय टीम मुंबई रवाना हो गई है। सेंट्रल जोन के डिप्टी कमिश्नर सोमन बर्मा ने बताया कि उन लोगों से पूछताछ की जाएगी जिनके नाम FIR में हैं। सूत्रों के मुताबिक, OTT पर परोसे जा रहे आपत्तिजनक कंटेंट को लेकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय अलर्ट हो गया है। आज शाम तक OTT पर आपत्तिजनक कंटेंट और तांडव वेब सीरीज को लेकर मंत्रालय फैसला ले सकता है।

तांडव को लेकर आज दिल्ली में हुई बैठक

तांडव वेब सीरीज को लेकर हो रहे विवाद पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में आज बैठक हुई। सरकार पहले ही साफ कह चुकी है कि OTT प्लेटफॉर्म पर दिखाए जाने वाले फिल्म या कंटेट को लेकर सेल्फ रगुलेशन कोड बनाएं। अगर OTT प्लेटफार्म अपने लिए सेल्फ रेगुलेशन कोड नहीं बनाते हैं तो फिर सरकार कोड बनाने पर विचार कर सकती है।

मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के साथ कुछ जिम्मेदारियां भी निहित होती हैं। क्रिएटिव फ्रीडम के नाम पर कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने की अनुमति नहीं दी जा सकती। मंत्रालय के सूत्रों का मानना है कि कोरोना आपदा के कारण ज्यादातर फिल्में OTT पर रिलीज हो रही हैं। अगर यही फिल्में बड़े पर्दे या टीवी पर रिलीज होती तो इन्हें CBFC और Cable TV Regulation Act के कंटेंट गाइडलाइन्स का पालन करना होता, यानी थियेटर और OTT के लिए अलग-अलग स्टैंडर्ड नहीं हो सकते।

Related posts