सेना दिवस पर पुरुष परेड का नेतृत्व करने वाली पहली महिला तान्या शेरगिल, बचपन से ही हथियाराें से खेलने का शौक

tanya shergill

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आर्मी के काॅर्प्स ऑफ सिग्नल्स की कैप्टन तान्या शेरगिल ने इतिहास रचा है। तान्या देश के इतिहास की पहली ऐसी महिला अफसर बन गई हैं, जिन्होंने सेना दिवस पर पुरुषाें की परेड का नेतृत्व किया है। जी हां… बुधवार को सेना के 72वें सेना दिवस के मौके पर कैप्टन तान्या शेरगिल ने आर्मी परेड को लीड किया। इतना ही नहीं बल्कि तान्या गणतंत्र दिवस परेड में भी सेना की टुकड़ी का नेतृत्व करेंगी।



तान्या पंजाब के हाेशियारपुर के गढ़दीवाला कस्बे की रहने वाली हैं। तानिया परिवार की चाैथी पीढ़ी से हैं, जाे सेना में रहकर देश की सेवा कर रही हैं। उनके पिता सूरत सिंह शेरगिल 101 मीडियम रेजीमेंट (तोपखाना), दादा हरी सिंह 14वीं सशस्त्र रेजीमेंट (बख्तरबंद) और परदादा गंडा सिंह सिख रेजीमेंट में सैनिक रह चुके हैं। तान्या के पिता बाद में सीआरपीएफ से जुड़ गए थे। उन्हें वीरता के लिए राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित भी किया जा चुका है। तानिया बचपन में खिलौने को बजाय हथियारों से खेलती थीं।

तान्या ने नागपुर यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन से बीटेक की डिग्री ली है। तान्या ने इंजिनियरिंग की पढ़ाई के बाद सेना में भर्ती होने का फैसला किया। चेन्नई स्थित ऑफिसर ट्रेनिंग अकेडमी से मार्च 2017 में तान्या शेरगिल को सेना में शामिल किया गया। तानिया को फोटोग्राफी, ट्रेवलिंग और संगीत का बेहद शौक है। बता दें इससे पहले साल 2019 में कैप्टन भावना कस्तूरी गणतंत्र दिवस पर पुरुषों का नेतृत्व करने वाली पहली महिला अफसर बनी थीं।

Related posts