शक्तिशाली Tauktae तूफान का कहर: अब तक 63 लोगों की मौत, कई लोग समुद्र में कूदे, ऑपरेशन जारी

चैतन्य भारत न्यूज

अरब सागर में उठा शक्तिशाली तूफान Tauktae ने महाराष्ट्र और गुजरात में ज्यादा असर दिखाया। दो दिन खूब तबाही मचाने के बाद अब यह शांत हो गया, लेकिन फिर भी तबाही की निशानी छोड़ गया। मंगलवार को तूफान की चपेट में आने वाले जहाजों में फंसे लोगों के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। भारतीय नौसेना ने सैकड़ों लोगों की जान बचा ली। अभी भी कुछ लोगों को बाहर निकालना बाकी है।

63 लोगों की हुई मौत

जानकारी के मुताबिक, गुजरात में इस तूफान के कारण कुल 45 मौतें दर्ज की गई हैं, जिनमें से सबसे अधिक अमरेली में 15 मौतें हुई हैं। वहीं महाराष्ट्र में भी इस तूफान से 18 मौतें दर्ज की गई हैं। अरब सागर में कुछ नाव फंस गई थी, इसके अलावा ऑइल रिग पर कुछ लोग और कर्मचारी भी फंस गए थे, जिनको लेकर भारतीय नेवी, कोस्ट गार्ड समेत अन्य एजेंसियों ने मिलकर ऑपरेशन को चलाया।

भारतीय नेवी के इन जहाजों ने कमान संभाली

बता दें मुंबई से थोड़ी दूरी पर फंसी बार्ज P-305 पर कुल 273 लोग फंस गए थे, जिन्हें बाहर निकाला गया। मंगलवार तक करीब 180 लोगों को निकाल लिया गया था, जबकि बाकी को निकालने का काम जारी है। करीब 93 क्रू-मेंबर्स हैं, जिनकी तलाश जारी है। इसके अलावा GAL कंस्ट्रक्टर पर भी क्रू मेंबर्स करीब 72 घंटे तक फंसे रहे, जब तूफान ने अपनी दस्तक दी। यहां भी भारतीय नेवी ने ऑपरेशन चलाकर लोगों को निकालने का काम किया। इस पूरे ऑपरेशन को कामयाब करने में भारतीय नेवी के कई जहाजों ने कमान संभाली जिसमें INS कोच्चि, INS कोलकाता के साथ Beas, Betwa and Teg भी शामिल रहे।

पानी में कूद गए थे कई लोग, नेवी ने बचाया

जानकारी के अनुसार, ONGC के ऑपरेशन के लिए बार्ज P305 को लगाया गया था, जो मुंबई से कुछ दूरी पर था। यहां पर मौजूद कुछ लोगों ने पानी में छलांग लगा दी थी, ऐसे में अभी भी कुछ लोगों की तलाश जारी है।

Tauktae तूफान: मुंबई से 175 किमी दूर समुद्र में डूबा जहाज, 130 लोग लापता, 146 को बचाया गया

Tauktae तूफान ने हर जगह मचाई तबाही, टूटते पेड़, उखड़ते खंभे, उड़ती छतें

जानिए क्या होता है ‘तौकाते’ का मतलब? यहां जानें कैसे तय किये जाते हैं चक्रवातों के नाम

 

Related posts