जहां महिला डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी, पुलिस ने उसी जगह चारों आरोपितों को मार गिराया, जानें पूरी कहानी

hyderabad

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में 27-28 नवंबर की दरम्यानी रात को महिला डॉक्टर के साथ हुए दुष्कर्म के चारों आरोपितों का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है। क्राइम सीन को रीक्रिएट करने के लिए शुक्रवार देर रात पुलिस आरोपितों को उसी अंडरब्रिज पर लेकर पहुंची थी, जहां इन्होंने दरिंदगी दिखाई थी और फिर डॉक्टर को पेट्रोल डालकर जलाया था। पूछताछ और घटना को रीक्रिएट करने के दौरान आरोपी भागने लगे। पुलिस से बचने के लिए उन्होंने पत्थर भी फेंके। ऐसे में पुलिस ने आत्मरक्षा में एनकाउंटर कर चारों आरोपितों को मार गिराया।


सुनसान सड़क पर पंक्चर हुई गाड़ी, बहन को फोन पर कहा- मुझे डर लग रहा है, सुबह मिली जली हुई लाश

दो पुलिसकर्मी हुए घायल

साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्ज्नार के मुताबिक, चारों आरोपी मो आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाटकेशवुलु शुक्रवार तड़के 3 से 6 बजे के बीच शादनगर स्थित चतनपल्ली में एनकाउंटर में मारे गए। इस घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। आरोपितों की लाशों को बाद में सरकारी अस्पताल भेज दिया गया।

‘अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी’

एनकाउंटर की खबर मिलने के बाद पीड़िता के पिता ने कहा कि, ‘आज मेरी बेटी को गए 10 दिन हो गए। तेलंगाना सरकार, पुलिस और जो मेरे साथ खड़े लोग थे, उन्हें बधाई। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।’

हैदराबाद रेप केस की संसद में गूंज, जया बच्चन ने कहा- दोषियों को दें सरेआम सजा

बहन ने सरकार को कहा शुक्रिया

वहीं, पीड़िता की बहन ने कहा कि, ‘आरोपी एनकाउंटर में मारे गए। मैं इससे काफी खुश हूं। यह एक उदाहरण होगा, उम्मीद है आगे से ऐसा कुछ नहीं होगा। मैं पुलिस और तेलंगाना सरकार को शुक्रिया कहना चाहती हूं।’

हमें अभी तक न्याय नहीं मिला : निर्भया की मां

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि, ‘जिस तरह तेलंगाना के मामले में पुलिस ने न्याय किया उसी तरह निर्भया के दोषियों को भी सजा मिलनी चाहिए। उनकी बेटी निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा सुप्रीम कोर्ट ने दी है लेकिन अभी तक उनको फांसी के फंदे पर नहीं लटकाया गया। हमको अभी तक न्याय नहीं मिला है।’

महिला चिकित्सक हत्याकांड : तीन पुलिसवाले सस्पेंड, लोगों ने पुलिस पर फेंकी चप्पल, आरोपी की मां बोली- मेरे बेटे को भी जिंदा जला दो

गौरतलब है कि हैदराबाद में 27 साल की एक महिला वेटेनरी डॉक्टर से पहले सामूहिक दुष्कर्म किया गया और फिर बाद में पेट्रोल छिड़क कर उसको जिंदा जला दिया, जिसमें पीड़िता की मौत हो गई। मामला सामने आने के बाद लोगों ने वारदात का जमकर विरोध किया और देशभर में प्रदर्शन के दौर शुरू हो गया।

ये भी पढ़े…

बलात्कारियों को 6 महीने के भीतर सजा दिलाने के लिए अनशन पर अड़ीं स्वाति मालीवाल, पीएम मोदी को भी लिखा पत्र

हैदराबाद में हुई हैवानियत के बाद महिला पुलिस अधिकारी ने समाज से की ये महत्वपूर्ण अपील, हो रही वायरल

हैदराबाद: जिस जगह महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म कर जलाया, वहीं मिला एक और महिला का जला हुआ शव

 

 

Related posts