थाईलैंड में राजतंत्र के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन, PM के इस्तीफे की मांग पर बवाल, लगी इमरजेंसी

चैतन्य भारत न्यूज

बैंकॉक. थाईलैंड में बुधवार को हुए विशाल प्रदर्शनों के बाद सरकार ने गुरुवार तड़के देश में आपातकाल लगा दिया। दरअसल, थाईलैंड में राजतंत्र में सुधार और प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओचा के इस्तीफे की मांग को लेकर पिछले तीन महीने से प्रदर्शन हो रहा है। साथ ही प्रदर्शनकारी देश का नया संविधान बनाने और दोबारा चुनाव करने की मांग पर अड़े हैं। पुलिस ने कम से कम 20 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है। आपातकाल के तहत 5 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने और राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाली खबरों के प्रकाशन पर रोक लगा द‍िया गया है।

बुधवार को हजारों की तादाद में लोगों ने गवर्नमेंट हाउस को घेर लिया। बता दें गवर्नमेंट हाउस को थाईलैंड में सरकार का आधिकारिक परिसर माना जाता है। इसी परिसर में प्रधानमंत्री कार्यालय से लेकर सभी मंत्रालय स्थित हैं। बताया जा रहा है कि 2014 के बाद से यह थाईलैंड में सबसे बड़े प्रदर्शनों में से एक है।

थाईलैंड में क्यों हो रहे हैं विरोध प्रदर्शन

प्रदर्शनकारी थाईलैंड के संवैधानिक राजतंत्र में सुधार की मांग कर रहे हैं। उनका दावा है कि यह लोकतांत्रिक व्यवस्था में उचित तरीके से काम नहीं करता। पहले थाईलैंड की सेना प्रमुख रहे प्रयुत्त चान-ओ-चा 2014 में तख्तापलट कर देश की सत्ता हथिया ली थी। उनके ही नेतृत्व में 2016 में थाईलैंड का नया संविधान तैयार हुआ था। जिसमें कई ऐसे नियम बनाए गए थे जो मानवाधिकार के खिलाफ थे। इसमें सरकार और राजा की आलोचना करने वालों को गंभीर सजा देने का प्रावधान भी है। थाईलैंड में 2019 में चुनाव भी हुए थे जिसमें प्रयुत्त की पार्टी को जीत मिली थी। हालांकि, लोगों का आरोप है कि सरकार ने अपनी ताकत के बल पर गड़बड़ी करवा कर चुनाव में जीत हासिल की थी। तभी से उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है।

ये भी पढ़े…

थाईलैंड के राजा ने थामा अपनी बॉडीगार्ड का हाथ, परंपरा निभाने शादी से पहले राजा तक रेंगकर पहुंचीं रानी, फिर हुईं नतमस्तक

थाईलैंड: मॉल में घुसकर सैनिक ने सरेआम बरसाई गोलियां, 26 लोगों की मौत, पुलिस ने हमलावर को मार गिराया

थाईलैंड ने HIV की दवा से बनाई कोरोना वायरस से लड़ने की नई दवा, 48 घंटे में 90% ठीक हुआ मरीज

थाईलैंड में बोले पीएम मोदी- भारत में निवेश के लिए यह सबसे अच्छा समय, भ्रष्टाचार का खात्मा हो रहा

 

Related posts