थाईलैंड: मॉल में घुसकर सैनिक ने सरेआम बरसाई गोलियां, 26 लोगों की मौत, पुलिस ने हमलावर को मार गिराया

चैतन्य भारत न्यूज

बैंकॉक. थाईलैंड के नाखोन रत्चासिमा शहर में स्थित एक शॉपिंग मॉल में शनिवार को एक सैनिक ने मॉल में घुसकर अंधाधुंध गोलीबारी की। इस घटना में करीब 26 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। इतना ही नहीं बल्कि हमलावर ने मॉल में ही कुछ लोगों को बंधक भी बना लिया था। इस घटना के बाद पुलिस के साथ हमलावर की मुठभेड़ करीब 17 घंटे तक चली और फिर पुलिस ने आखिरकार उसे मार गिराया। थाईलैंड के स्वास्थ्य मंत्री ने मुठभेड़ में हमलावर के मारे जाने की पुष्टि की।



सूत्रों के मुताबिक, हमलावर का नाम सार्जेंट मेजर जकरापंत थोम्मा था। वह 22वीं आर्मी रीजनल कमांड में सार्जेंट के पद पर तैनात है। वह एक खतरनाक स्नाइपर शूटर है। हमलावर ने फायरिंग के दौरान फेसबुक पर लाइव स्ट्रीमिंग की और सेल्फी लेकर इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया। गोलीबारी करने के बाद वह टर्मिनल 21 शॉपिंग मॉल में छिपा था। पुलिस और सैन्य बलों ने टर्मिनल 21 मॉल सील कर दिया था और फिर ऑपरेशन को अंजाम दिया। सेना के लेफ्टिनेंट जनरल ने बताया कि, ‘हमलावर सैनिक झगड़ा करने के बाद अपने एक कमांडर की हत्या करके भागा था।’

गोलीबारी से पहले उसने पिस्तौल के साथ गोलियों की तस्वीर भी पोस्ट की थी। एक तस्वीर के साथ उसने लिखा था कि, ‘कोई भी मौत से नहीं बच सकता। यह उत्साहित करने वाली घटना है।’ फायरिंग के दौरान हमलावर ने सोशल मीडिया पर लोगों से अपने सरेंडर के बारे में भी पूछा। उसने लिखा था कि, ‘क्या मुझे आत्मसमर्पण करना चाहिए।’ हालांकि, बाद में फेसबुक ने उसके पेज को ही हटा दिया और मैसेज के तौर पर लिखा कि, ‘हमारे दिल उन सबके लिए पीड़ा में हैं, जिनके करीबियों की इस घटना में जान गई। फेसबुक पर ऐसी क्रूरता करने वालों की कोई जगह नहीं है।’

ये भी पढ़े…

जमीन के विवाद में फायरिंग, 10 लोगों की मौत, 20 घायल

अमेरिका: डेनवर के स्कूल में छात्रों ने की गोलीबारी, 7 छात्र घायल!

अंतरराष्ट्रीय छात्र दिवस : 17 नवंबर इतिहास का वो काला दिन, जब हजारों छात्रों पर नाजियों ने की थी गोलीबारी

 

Related posts